आउटसोर्स कर्मचारियों के वेतन को लेकर ऊर्जा मंत्री का बड़ा बयान, प्रमुख सचिव को दिये ये निर्देश

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ऊर्जा विभाग में काम कर रहे कुशल और अर्द्धकुशल आउटसोर्स कर्मचारियों को कलेक्टर रेट पर ही वेतन देने के निर्देश दिये है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कोरोना काल (Corona era) में अन्य विभागों के कर्मचारियों की तरह लगातार सेवाएं दे रहे ऊर्जा विभाग के आउटसोर्स कर्मचारियों (Outsource employees) के वेतन (salary) को लेकर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने बड़ा बयान दिया है। ऊर्जा मंत्री का कहना है कि इन आउटसोर्स कर्मचारियों को कलेक्ट्रेट रेट पर वेतन दिया जाए और जो एजेन्सी ऐसा नहीं करती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

Read More: GST Council Meeting: क्या टैक्स फ्री होगी कोरोना की वैक्सीन और दवाइयां, बड़ा फैसला संभव

मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ऊर्जा विभाग में काम कर रहे कुशल और अर्द्धकुशल आउटसोर्स कर्मचारियों को कलेक्टर रेट पर ही वेतन देने के निर्देश दिये है। उन्होंने इसके निर्देश विभाग के प्रमुख सचिव को दिये हैं। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जो एजेन्सी कलेक्टर रेट पर वेतन नहीं दे उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

Read More: मध्यप्रदेश चिकित्सा अधिकारी संघ ने की पीजी मेडिकल ऑफिसर की पदोन्नति की मांग, आंदोलन की चेतावनी

अपने बयान में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने आउटसोर्स कर्मचारियों से कहा कि कोरोना की इस विषम परिस्थिति में आप सब जिस लगन और मेहनत के साथ काम कर रहे हैं उसके लिए आपको मैं प्रणाम करता हूँ।