रेमडेसिविर इंजेक्शन

जबलपुर, संदीप कुमार। नकली रेमडीसीवीर इंजेक्शन (Fake Remdesivir Injection) मामले में लिप्त सिटी अस्प्ताल (city hospital) संचालक सरबजीत सिंह मोखा (sarabjit singh mokha) उसका बेटा और पत्नी सहित 6 लोगो को जबलपुर पुलिस ने गिरफ्तार (arrest) कर जेल भेजा है। वही इसके बाद इसी नकली रेमडीसीवीर इंजेक्शन की खरीद फरोख्त में लिप्त चार अन्य आरोपी, जो कि गुजरात पुलिस (gujrat police) की गिरफ्त में थे। उन्हें आज प्रोटेक्शन वारंट (protection warrent) में जबलपुर लाया गया। जबलपुर में अब इन चारों आरोपियों से भी इस मामले में पूछताछ की जाएगी।

सपन जैन-सुनील मिश्रा सहित चार आरोपी को लाया गया मध्यप्रदेश

गुजरात पुलिस की गिरफ्त में आए चार आरोपी सपन जैन-सुनील मिश्रा-पुनीत शाह और कौशल वोरा को गुरूवार की तड़के सुबह जबलपुर लाया गया। जहाँ उनका रात को ही मेडिकल चेकअप करवाया गया। इस दौरान एसआइटी प्रमुख रोहित कासवानी सहित कई पुलिस अधिकारी जिला अस्पताल में थे। नकली रेमडीसीवीर इंजेक्शन मामले में चारो आरोपी सपन जैन-कौशल वोरा-पुनीत शाह और सुनील मिश्रा को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जहाँ पूछताछ के दौरान कई खुलासे आरोपियो ने किए।

Read More: सरपंच-सचिव MGNREGA योजना में लगा रहे पलीता, विकास कार्यों की शर्मनाक तस्वीर पेश

कौशल वोरा और पुनीत शाह की थी गुजरात फैक्ट्री

एसआइटी प्रमुख रोहित कासवानी ने बताया कि हमारी टीम गुजरात गई हुई थी और चारो को प्रोटेक्शन वारंट में लेकर जबलपुर आई है। जहाँ उनको गुरुवार को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड ली जाएगी। इसके अलावा उन्होंने बताया कि कौशल वोरा और पुनीत शाह ने गुजरात के सूरत में नकली रेमडीसीवीर इंजेक्शन बनाने की फैक्ट्री डाली थी और वही नकली इंजेक्शन की खेप सपन जैन के माध्यम से जबलपुर और इंदौर लाई गई थी।