जयंत मलैया के बचाव में उतरीं पूर्व मंत्री कुसुम महदेले, अपनी ही पार्टी पर साधा निशाना

पूर्व मंत्री कुसुम महदेले ने  जयंत मलैया को कारण बताओ नोटिस जारी करने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया । उन्होंने पूर्व मंत्री अजय विश्नाई के बयान का भी समर्थन किया है।  सबसे बड़ी बात ये है कि कुसुम महदेले ने दमोह उपचुनाव करवाने को भी गलत बताया।  

डिप्टी सीएम

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  दमोह उपचुनाव (Damoh By Election) में मिली हार के बाद वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री जयंत मलैया (Jayant Malaiya) को पार्टी द्वारा नोटिस दिये जाने के बाद से भारतीय जनता पार्टी (BJP) में सियासी घमासान मचा हुआ है। पार्टी के वरिष्ठ और समर्पित नेता जयंत मलैया (Jayant Malaiya) को नोटिस दिए जाने का खुलकर विरोध कर रहे हैं, पूर्व मंत्री अजय विश्नोई (Ajay Vishnoi), पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी (Himmat Kothari) के बाद अब पूर्व मंत्री कुसुम महदेले (Kusum Mahdele) ने भी जयंत मलैया (Jayant Malaiya) को दिए कारण बताओ नोटिस को गलत बताया है।  कुसुम महदेले ने अपनी ही पार्टी पर निशाना साधते हुए उपचुनाव कराये जाने को ही गलत बताया है।

दमोह में हुए उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रत्याशी राहुल लोधी (Rahul Lodhi) को  मिली हार के बाद से पार्टी में उठा सियासी घमासान थम नहीं रहा है।  हार के बाद जिस तरह से राहुल लोधी (Rahul Lodhi) ने सार्वजनिक रूप से मीडिया के सामने अपनी हार का ठीकरा मलैया परिवार पर फोड़ा उससे भाजपा (BJP) की अंदरूनी कलह सामने आ गई। राहुल लोधी (Rahul Lodhi) के आरोपों के बाद पार्टी ने उप चुनाव में हार के लिए जिम्मेदार मानते हुए दमोह के कई नेताओं को नोटिस दिए।  पार्टी ने पूर्व मंत्री जयंत मलैया (Jayant Malaiya) को भी कारन बताओ नोटिस भेजा वहीं उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया (Siddharth Malaiya) की सदस्यता ही समाप्त कर दी।

ये भी पढ़ें – अब ब्लॉक, गांव, वार्ड में होंगे क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप, आदेश जारी

पार्टी के इस एक्शन का विरोध शुरू हो गया , पार्टी के कई निष्ठावान कार्यकर्ता इसे गलत कह रहे हैं और विरोध कर रहे हैं। पूर्व मंत्री एवं वर्तमान विधायक अजय विश्नोई (Ajay Vishnoi) और पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी (Himmat Kothari) के बाद अब पूर्व मंत्री कुसुम महदेले (Kusum Mahdele) भी जयंत मलैया (Jayant Malaiya) के बचाव में खाई हो गई हैं उन्होंने इसे लेकर अपनी ही पार्टी पर निशाना साधा है पूर्व मंत्री कुसुम महदेले ने  जयंत मलैया को कारण बताओ नोटिस जारी करने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया । उन्होंने पूर्व मंत्री अजय विश्नाई के बयान का भी समर्थन किया है।  सबसे बड़ी बात ये है कि कुसुम महदेले ने दमोह उपचुनाव करवाने को भी गलत बताया।

ये भी पढ़ें – इंतजार खत्म: कांग्रेस को जल्द मिलेगा नया राष्ट्रीय अध्यक्ष, 23 जून को होगा चुनाव

कुसुम महदेले ने ट्वीट किया – “मलैया जी और सिद्दार्थ पर आरोप प्रत्यारोप कतई उचित नहीं है। उपचुनाव करवाना भी उचित नहीं था।”

उन्होंने एक और ट्वीट में लिखा – “अब भाजपा के पास वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की उपेक्षा, अवमानना करने और उनकी निष्ठा पर असत्य लांछन लगाना भी शुरू हो गया है। जयन्त मलैया जी को कारण बताओ नोटिस और सिध्दार्थ की सदस्यता समाप्त करना दुर्भाग्यपूर्ण है।”

पूर्व मंत्री एवं भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणीं सदस्य कुसुम महदेले ने पूर्व मंत्री अजय विश्नोई के बयान का समर्थन करते हुए ट्वीट किया – “अजय विश्नोई जी दमोह उपचुनाव के लिए आपने सही टिप्पणी की है।”

गौरतलब है कि पूर्व मंत्री जयंत मलैया पर कार्रवाई के बाद पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने सरकार से सवाल करते हुए ट्वीट किया था – “चुनाव में हार की जबावदारी क्या टिकिट बांटने वाले और चुनाव प्रभारी भी लेंगे?”

अजय विश्नोई के बाद पूर्व मंत्री हिम्मत कोठारी ने ने भी पूर्व मंत्री जयंत मलैया पर की गई कार्रवाई को गलत बताय था।  हिम्मत कोठरी ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि – मलैया जी का परिवार जनसंघ के जमाने से काम कर रहा है। उनको नोटिस देना किसी को बलि का बकरा बनाना है।