आपसी विवाद के बीच स्वास्थ्य विभाग की सर्वे टीम बनी निशाना, प्रशासन ने की कार्रवाई

इंदौर।आकाश धौलपुरे

शनिवार दोपहर को इंदौर के पलासिया थाना क्षेत्र के बिनोबा नगर कंटेन्मेंट एरिया में स्वास्थ्य विभाग की सर्वे टीम पर हमले की बात सामने आई है हालांकि जब हमले की प्रारंभिक पड़ताल पुलिस द्वारा की गई तो पता चला कि बिनोवा नगर में रहने वाले दो लोगो मे विवाद चल रहा था इसी दौरान स्वास्थ्य विभाग की सर्वे टीम की महिला कोरोना सर्वे के लिहाज से मोबाइल पर वीडियो शूट कर रही थी तब विवाद कर रहे लोगो मे से एक को लगा कि उनका वीडियो बनाया जा रहा है। जिसके बाद महिला स्वास्थ्यकर्मी का मोबाइल तोड़ दिया गया। घटना के बाद सर्वे कर रही टीम की महिला सदस्य पलासिया थाना पहुंच गई और घटना की शिकायत दर्ज करवाई।

इधर, मामले की गम्भीरता को देखते हुए जिला कलेक्टर मनीष सिंह और एडिशनल एसपी जयवीर सिंह पलासिया थाना पहुंचे और घटना की जानकारी ली। एडिशनल एसपी जयवीर सिंह ने बताया कि बिनोवा नगर में रहने वाले कमल और विनोद नामक व्यक्तियों का विवाद लाइट की बात को लेकर पास में रहने वाले पारस बौरासी से हुआ है और विवाद के दौरान पत्थर और ईंट चलाये गए थे। इसी वक्त सर्वे टीम का कार्य भी चल रहा था और विवाद कर रहे पारस बौरासी को लगा कि मोबाइल से महिला कार्यकर्ता पुलिस को सूचित कर रही है ऐसे में उसने मोबाइल तोड़ दिया। एडिशनल एसपी ने साफ किया कि सर्वे टीम के साथ किसी भी फिजिकल संपर्क नहीं हुआ है और पुलिस पुलिस स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ है वही स्वास्थ्य विभाग के सदस्यों द्वारा की गई शिकायत के आधार पर धारा 353 सहित अन्य धाराओं के तहत दोषी पर मामला दर्ज कर लिया है।

इधर, पलासिया थाना पहुंचकर कलेक्टर मनीष सिंह ने घटना की जानकारी ली और बताया कि क्षेत्र में एक मरीज पॉजिटिव पाया गया है ऐसे में वहां घर घर सर्वे का काम चल रहा था और सभी लोगों को जागरूक करने का कार्य स्वास्थ्य विभाग की सर्वे टीम पहुंची थी और विवाद के दौरान मोबाइल जमीन पर रख तोड़ दिया गया। कलेक्टर ने कहा ऐसी स्थिति में चाहे अज्ञानता वश ही उसने मोबाइल गिराया है और अब उस व्यक्ति पर कार्यवाही कर गिरफ्तारी की जाएगी। इधर, पलासिया पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है।