Indore: नए साल के लिए गाइडलाइन जारी, इनमें मिली छूट, ये रहेंगे प्रतिबंधित

वही आबकारी टीम यह सुनिश्चित करेगी कि बार लाइसेंस के सभी प्रोटोकॉल का पालन करें। ऐसा नहीं होने की स्थिति में बार का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (corona) के संक्रमण के बीच मध्य प्रदेश के इंदौर (indore) में नए साल के लिए गाइडलाइन (guideline) जारी की गई है। वही इंदौर शहर में व्यवसायिक स्थल, बाजार और होटल रात 10:00 बजे के बाद खुल सकेंगे। साथ ही साथ आयोजनों में भी ढील बरती गई है। वहीं कोचिंग संचालकों (Coaching operators) को कोचिंग संचालन की छूट दी गई।

दरअसल कोरोना संक्रमण को देखते हुए लगाए गए प्रतिबन्ध को हटाने के बाद अब जिला प्रशासन ने शहर से रात का कर्फ्यू भी हटा लिया है। इस संबंध में कलेक्टर मनीष सिंह (Manish Singh) ने धारा144 के तहत रविवार को आदेश जारी किया है। नए साल की गाइडलाइन के मुताबिक न्यू ईयर (New Year) की पार्टी के लिए होटल, बार अपनी 50% बैठक क्षमता के साथ 31 दिसंबर का आयोजन कर सकेंगे। वही बार में एक साथ 50% क्षमता के साथ बैठने की व्यवस्था होगी।

Read More: 136वां कांग्रेस स्थापना दिवस: विदेशी दौरे पर राहुल, सीएम शिवराज, वीडी समेत लोगों ने ली चुटकी

हालांकि इसके लिए होटल, बार में डीजे (DJ) और डिस्को (Disco) नहीं लगाए जाएंगे। संगीत की व्यवस्था होटल,बार कर सकेंगे। इसके साथ ही बार में 21 वर्ष से कम उम्र के युवाओं का प्रवेश निषेध रहेगा। वही आबकारी टीम यह सुनिश्चित करेगी कि बार लाइसेंस के सभी प्रोटोकॉल का पालन करें। ऐसा नहीं होने की स्थिति में बार का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

वहीं बड़े होटलों में बड़ा आयोजन नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही शहर में ऐसा कोई आयोजन नहीं किया जाएगा। जिसमें अलग से टिकट की व्यवस्था हो और ना ही बाहर से कलाकार बुलाकर कार्यक्रम किए जाएंगे। इंदौर कलेक्टर के आदेश के मुताबिक शहर में कोचिंग संचालन को मंजूरी दी गई है। जहां कोचिंग संचालक 50 % क्षमता के साथ कोचिंग संचालित करेंगे। वहीं कोचिंग आने से पहले छात्रों को अभिभावकों से अनुमति लेनी होगी।

बता दें कि शहर में कोरोना से राहत का सिलसिला जारी है। रविवार को दूसरे दिन 24 घंटे के दौरान मिलने वाले संक्रमितों की संख्या 300 से कम रही है। राहत की बात यह भी है कि शहर में रिकवरी रेट 92% से ज्यादा हो गई है। शहर में अब तक 54203 संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 50 हजार 113 मरीज ठीक होकर बीमारी को हरा चुके हैं। रविवार को भी 361 मरीज ठीक हुए।