Indore News: लॉकडाउन को लेकर कलेक्टर का बड़ा बयान, सख़्त हुए नियम

इंदौर कलेक्टर ने कहा कि जिले में कोरोना के ब्लास्ट को देखकर एक बार फिर से बड़ा निर्णय लिया गया है। जहां 9:00 बजे से लोगों को घरों की तरफ लौटाना शुरू किया जाएगा।

इंदौर कलेक्टर

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में एक बार फिर से कोरोना (corona) का ब्लास्ट देखा जा रहा है। जिसको लेकर अब जिला प्रशासन सचेत हो गया है। बुधवार को कर्फ्यू (curfew) के पहले दिन लापरवाह लोगों के खिलाफ जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई देखी गई। वहीं मास्क (mask) नहीं पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई है। अब इस मामले में इंदौर कलेक्टर (indore collector) का बड़ा बयान सामने आया है। इंदौर कलेक्टर ने कहा है कि यदि स्थिति नहीं सुधरी तो जिले में टोटल लॉकडाउन (lockdown) लगाया जाएगा।

दरअसल कोरोना के पहले लहर के दौरान मध्यप्रदेश में इंदौर कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट (hotspot) रहा था। ऐसी स्थिति में अब जिले में एक बार फिर से संक्रमण बढ़ने पर प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। इंदौर कलेक्टर ने कहा है कि अगर नाइट कर्फ्यू (night curfew) के बाद भी जिले में हालात नहीं सुधरे तो शनिवार और रविवार को टोटल लॉकडाउन (total lockdown) लगाया जाएगा। प्रशासन ने यह विकल्प खुला छोड़ा है।

इसके साथ ही इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह (manish singh) ने कहा कि शहर के फूड जोन जैसे सर्राफा, 56 दुकान और अन्य चौपाटी पर लोगों की काफी भीड़ लग रही है। हालांकि पुलिस प्रशासन के अफसर सड़क पर मुस्तैद हैं। फिर भी लोगों को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। कई लोग गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। ना मास्क पहन रहे हैं और ना ही 2 गज की दूरी का पालन कर रहे हैं।

Read More: Morena News: कार में केबिन बना कर छुपाया गांजा, 60 किलो गांजे के साथ तीन आरोपी गिरफ्तार

इतना ही नहीं इंदौर कलेक्टर ने कहा कि जिले में कोरोना के ब्लास्ट को देखकर एक बार फिर से बड़ा निर्णय लिया गया है। जहां 9:00 बजे से लोगों को घरों की तरफ लौटाना शुरू किया जाएगा। वही मास्क ना पहनने वालों को गिरफ्तार करके ओपन जेल भेजा जाएगा। वही कोरोना की बढ़ते संक्रमण को देखते हुए चिड़ियाघर को 18 मार्च से अगले आदेश तक बंद करने का निर्णय लिया गया है।

बता दें कि बुधवार को करीब 7000 दर्शक चिड़ियाघर देखने पहुंचे थे और वही गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया। जिसके बाद से यह निर्णय लिया गया है। इस दौरान जिले के पार्क सुबह 9:00 बजे से सिर्फ मॉर्निंग वॉक के लिए खुले रहेंगे। इसके बाद प्रवेश नहीं दिया जाएगा।