Indore News

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश के इंदौर में एक बार फिर डकैती की वारदात सामने आई है। जिसमे 5 से अधिक डकैतों ने राजेंद्र नगर थाना क्षेत्र में स्थित ओमेक्स हिल्स टाउनशिप के हाउस नम्बर 479 पर धावा बोल दिया। देर रात हुई इस वारदात में एक महिला सहित 3 लोग घायल हुए है। वही डकैतों ने मारपीट के साथ सोने के आभूषण, नगदी और मोबाइल लूट लिए है।

डकैती की वारदात राजेंद्र नगर स्थित ओमैक्स हिल्स में हुई जहां पीथमपुर में क्राम्पटन ग्रीव्स कंपनी में काम करने वाले इंजीनियर गौरव त्यागी के घर को निशाना बनाया गया। डकैत करीब रात डेढ़ बजे अचानक घर मे घुसे और घर मे सो रहे इंजीनियर के भाई विशाल त्यागी को जगाया और उन्हें धमकाया और घर मे नगदी की जानकारी लेने लगे लेकिन विशाल ने कहा कि उनके घर मे वो नगद रुपये नही रखते है। इसके बाद डकैत अन्य कमरों में घुसे जहां परिवार के अन्य सदस्य सो रहे थे उन्हें भी जगाकर उन्हें रॉड से पीटने लगे इतना ही नही त्यागी परिवार की महिला सदस्य गार्गी त्यागी पर भी हमला बोल दिया।

इस दौरान त्यागी परिवार ने शोर मचाते हुए एक डकैत को पकड़ भी लिया लेकिन अन्य डकैतो ने रॉड और पत्थरों से उन पर हमला बोल दिया। वही शोर की आवाज सुनाई देने के बाद पड़ोस में रहने वाले दिनेश शर्मा अपने बेटों के साथ बाहर निकले तो मौके से सभी डकैत भाग खड़े हुए। डकैत अपने साथ नगदी, आभूषण और मोबाइल ले गए। इधर, वारदात की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है वही त्यागी परिवार के घायल सदस्यों को इलाज के अस्पताल भेजा गया।

Read More:  MP: पूर्व सीएम को राजनीति में लाने वाले जनसंघी नेता का निधन, पूर्व मंत्री ने दिया कंधा

मौके पर पहुंचे एएसपी प्रशांत चौबे ने बताया कि पुलिस अज्ञात डकैतो की तलाश में जुट गई है और आस पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे ताकि डकैतो को जल्द गिरफ्त में लिया जा सके। इधर, विशाल त्यागी ने बताया कि डकैत अपने साथ चाकू, रॉड और पत्थर लेकर आये थे और जब उनसे मुकाबला किया गया तो उन्होंने हमला बोल दिया। वही विशाल की माने तो उनके घर पर सीसीटीवी कैमरे नही है वही ओमेक्स हिल्स टाउनशिप के कैमरे भी बंद पड़े है।

बता दे कि ओमेक्स हिल्स द्वारा जब प्लाट बेचे गए थे तब लोगो की सुरक्षा को लेकर सीसीटीवी और 10 सुरक्षा गार्डो को हमेशा तैयार रखने का वादा किया लेकिन इस घटना के सामने आने के बाद सुरक्षा मापदंडो की पोल खुल गई। फिलहाल, पुलिस डकैती की वारदात की गुत्थी सुलझाने में जुट गई है।