Jabalpur News: नकली खाद के बाद तैयार हुआ नकली यूरिया, SDM ने किया गिरोह का भंडाफोड़

एसडीएम आशीष पांडे को मौके से करीब 70 क्विंटल नकली यूरिया बरामद हुई है।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में अब नकली खाद (fertilizer) के बाद किसानों को मुंह मांगे दामों पर बेचने के लिए यूरिया (urea) भी बनाने की कवायद शुरू हो गई है। मुखबिर की सूचना पर सिहोरा SDM ने नकली यूरिया बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। SDM के निर्देश पर पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में नकली यूरिया बरामद की है।

खुले खेत में बने मकान में बन रही थी नकली यूरिया

एसडीएम सिहोरा आशीष पांडे को मुखबिर से सूचना मिली कि सिहोरा तहसील के गोरहा ग्राम में स्थित एक खेत में बने मकान में नकली यूरिया बनाई जा रही है। इस सूचना के आधार पर एसडीएम आशीष पांडे के साथ स्थानीय पुलिस और कृषि विभाग ने जब मौके पर दबिश दी। वहां पर कई क्विंटल नकली यूरिया बरामद हुई। बताया जा रहा है कि यह नकली यूरिया स्थानीय किसानों को बेची जा रही थी।

Read More: WhatsApp के जरिए घर बैठे बुक करें गैस सिलेंडर, ये है पूरी प्रक्रिया

नकली यूरिया बनाने का चल रहा था वहां कारखाना

नकली यूरिया बनाने के लिए आरोपी ने पूरा एक कारखाना मौके पर संचालित कर रखा था। बकायदा नकली यूरिया का वहां पर उत्पादन हो रहा था। फिर उसे बोरियों में पैक करके बाजार में बेचा भी जा रहा था। एसडीएम आशीष पांडे को मौके से करीब 70 क्विंटल नकली यूरिया बरामद हुई है। एसडीएम ने जांच के लिए कृषि विभाग को नकली यूरिया सौंप दी है। साथ ही मौके पर स्थानीय पुलिस भी पहुंच चुकी थी। जिसके बाद अब पुलिस और प्रशासन मिलकर नकली यूरिया कारखाने का भंडाफोड़ करेगी।

जबलपुर निवासी डिसूजा का बताया जा रहा है खेत

सिहोरा तहसील के गोरहा ग्राम में स्थित खेत में नकली यूरिया बनाने का कारखाना जिस व्यक्ति का चल रहा था। वह जबलपुर निवासी किसी डिसूजा नाम के व्यक्ति का बताया जा रहा है। जांच में यह भी पाया गया है कि उस खेत को किसी स्थानीय व्यक्ति ने किराए पर ले रखा था। हालांकि अभी तक उस व्यक्ति का नाम सामने नहीं आया है। जिसने कि किराए पर ले कर लिया या खेत रखा हुआ था। बहरहाल पुलिस और प्रशासन मिलकर अब खेत मालिक और किराए पर लिए हुए युवक की पतासाजी में जुट गया है।