ग्वालियर, अतुल सक्सेना। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) आज गुरूवार को ग्वालियर पहुंचे।  उन्होंने पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया (Jaybhan Singh Pawaiya) के घर पहुँच कर पिताजी के निधन पर शोक संवेदनाएं व्यक्त की।  कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने मीडिया से बात करते हुए राम मंदिर मामले में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को आड़े हाथों लिया। भाजपा महासचिव ने एक बार फिर कहा कि बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया (Jay bhan Singh Pawaiya) के घर पहुंचकर शोक संवेदनाएं व्यक्त की, पवैया के पिताजी का पिछले दिनों निधन हो गया था। कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने कहा कि पवैया जी और मेरे पारिवारिक रिश्ते हैं मैं परिस्थितियों के कारण पहले नहीं आ पाया था।  आज उनका दुःख बांटने आया हूँ।

राम मंदिर मामले पर कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा बयान, कांग्रेस पर किया हमला

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) में मीडिया से बात करते हुए राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस ब्राण्ड के साधु-संत इस मुद्दे को उठा रहे हैं। जमीन बेचने वाला मुस्लिम है। कहीं किसी को परेशानी नहीं है। बाजार मूल्य से कम कीमत पर जमीन खरीदी हैं।  दरअसल रामजन्म भूमि के कारण जो लाभ भाजपा को मिल रहा है उससे लोग परेशान हैं इसलिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के संजय सिंह जैसे लोग सवाल उठा रहे हैं। आप जानते हैं कि संजय सिंह गलतबयानी को लेकर कई बार हाईकोर्ट में माफ़ी मांग चुके हैं। ये लोग सिर्फ एक षड्यंत्र करते हैं।

ये भी पढ़ें – बैंक फ्रॉड करने वालों पर सीबीआई का शिकंजा, इंदौर सहित देशभर के 6 स्थानों पर छापा

दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) द्वारा बार बार धारा 370 का मुद्दा उठाये जाने के सवाल पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह केवल वोट बैंक की राजनीति के लिए इस तरह की बयानबाजी करते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि आने वाले 50 सालों तक कभी देश में कांग्रेस की सरकार बनेगी। जब सरकार ही नहीं बनेगी  तो धारा 370 लगने या हटने का सवाल कैसे पैदा होगा, जो स्थिति है वही रहेगी। इसलिए वे सिर्फ इस तरह के बयां देकर समाज में हलचल पैदा करना और सामजिक ताने बने को तोड़ना। ये फितरत दिग्विजय सिंह जी की हमेशा रहती है।  इसलिए मैं दिग्विजय सिंह के बयानों को ज्यादा सीरियस नहीं लेता।  वैसे दिग्विजय सिंह के बयान पर सोनिया गांधी को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि कांग्रेस का इस पर मत क्या है ?

ये भी पढ़ें – MP News: अनुकंपा नियुक्ति आवेदन के लिए बदले नियम, लोक शिक्षण आयुक्त ने जारी किए आदेश

बंगाल के हालात के सवाल पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल हमारे नेताओं के लिए बंजर था।  मोदी जी के नेतृत्व और कार्यकर्ताओं की बदौलत  पार्टी ने वहां अच्छा प्रदर्शन किया। बंगाल में हम 25 गुना ज्यादा सीटें लाये हैं जो देश के इतिहास में पहली बार है। उन्होंने कहा कि बंगाल विधानसभा में भगवा और ब्लू कलर है। यानि वहां TMC और भाजपा ही है सदन में कांग्रेस और सीपीएम की एक भी सीट नहीं है। एक सवाल के जवाब में पार्टी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति ख़राब है। उस हिसाब से वहां राष्ट्रपति शासन लगना चहिये। चुनावों का परिणाम आने  के बाद से अब तक 45 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है, मैं अभी आप से बात कर रहा हूँ हो सकता है किसी की हत्या हो गयी हो, ये हालत बंगाल के हैं।

ये भी पढ़ें – Transfer: मध्यप्रदेश में फिर हुए अधिकारियों के तबादले, यहां देखे लिस्ट

मध्यप्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन के सवाल का जवाब देते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान हमारे नेता हैं  उन्होंने कोरोना काल में बहुत अच्छा काम किया है इसलिए मेरे हिसाब से नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा की कोई बात ही नहीं है  मैं तो चाहूंगा कि वे ही मुख्यमंत्री बने रहें और पार्टी भी यही चाहेगी।