भोपाल।

राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) से पहले एक बार फिर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister of Madhya Pradesh Kamal Nath) ने सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) को पत्र लिखा है।जिसमें उन्होंने कोरोना संक्रमण (Corona infection) के दौरान कर्मचारियों की बायोमेट्रिक सिस्टम (Biometric system) से थंब इम्प्रेशन (Thumb impression) द्वारा उपस्थिति दर्ज कराने की व्यवस्था को रोकने की मांग की है।

इस पर भाजपा के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल (BJP spokesperson Rajneesh Aggarwal) ने पलटवार करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की टीम की ट्यूबलाइट बहुत देर से जलती है। कमलनाथ, जनता और व्यवस्था से कटे हुए हैं, उन्हें किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं होती है। बिजली कंपनी में पहले ही नई व्यवस्था लागू हो चुकी है । कमलनाथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आज पत्र लिख कर जनता को भ्रमित कर रहे हैं बिजली कंपनी के कार्मिकों को अब सेल्फी से उपस्थिति दर्ज होती है सेल्फी प्रयास एप में अपलोड करना होगी ।

दरअसल, अब मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के कार्मिक सेल्फी से भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकेंगे। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत कंपनी के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिये कंपनी में प्रचलित आधार आधारित बायोमेट्रिक उपस्थिति प्रणाली की वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में सेल्फी आधारित उपस्थिति प्रणाली लागू की जा रही है।इस प्रणाली में उपस्थिति दर्ज करने के लिये कार्मिक को अपने कार्यालय में निर्धारित शिफ्ट/समय पर उपस्थित होकर अपने स्वयं के मोबाईल से कंपनी के ‘‘प्रयास एप’’ को खोलकर सेल्फी के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करना होगी। इसके माध्यम से कार्मिकों की उपस्थिति अक्षांश एवं देशांतर (Longitude/Latitude) के आधार पर दर्ज हो जाएगी तथा कार्यालय छोडते समय भी समान प्रक्रिया का पालन करना होगा। कार्मिक ऐसे स्थान से सेल्फी लेंगे, जहाँ से उनके बैठने का स्थान अथवा कार्य करने का स्थान स्पष्ट हो। इस संबंध में कंपनी ने आदेश लागू कर दिया है।