shivraj

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बीते दिनों महाराजपुर थाना क्षेत्र के वार्ड 62 में जहरीली शराब (Poisonous liquor) पीने से 2 व्यक्तियों की मौत हो गई है। वहीं 4 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। इसके बाद उन्हें अस्पताल (hospital) में भर्ती कराया गया है। इस मुद्दे पर विपक्ष (opposition) ने एक बार फिर तंज कसने का काम शुरू किया है। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) ने ट्विट कर शिवराज सरकार (shivraj government) पर निशाना साधा है।

दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) पर तंज कसते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में शराब माफियाओं (liquor mafias) का कहर जारी है। ग्वालियर (gwalior) में जहरीली शराब पीने से 2 लोगों की मौत हो गई है। वहीं कुछ लोगों की आंखों की रोशनी भी कम हुई है। लगातार उज्जैन, मुरैना, भिंड के बाद अब ग्वालियर में भी जहरीली शराब से मौत की खबर सामने आ रही है। अब ऐसे में पता नहीं प्रदेश में माफिया कब गड़ेंगे, कब टंगेंगे, कब लटकेंगे।

ज्ञात हो कि पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया था कि घटना ग्वालियर के महाराजपुर जिला थाना क्षेत्र की चंद्रपुरा की है। जहां ग्वालियर मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर दूर 2 व्यक्तियों की मौत शराब पीने से हो गई है। बताया जा रहा है कि इन दो लोगों के साथ 4 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं जांच में शराब पीने के बाद तबीयत खराब होने की खबर सामने आई है।

Read More: लापरवाही पर गिरी गाज, SDM ने दिए 3 कर्मचारियों के वेतन काटने के निर्देश

हालांकि शवों के पोस्टमार्टम हुआ है। उसकी रिपोर्ट आने का इंतजार है। इस मामले में पूर्व जनपद सदस्य ने बताया कि होली के मौके पर कुछ लोग कहीं से शराब लेकर आए थे। जिसे पीने के 2 दिन के बाद एक युवक प्रदीप परिहार की मौत गांव में ही हो गई और 5 लोग बीमार हो गए थे। इनमें से दो युवकों के आंख की रोशनी भी चली गई थी।

वही माफिया पर लगातार नियंत्रण के दावे करने वाली शिवराज सरकार ने बीते दिनों जहरीली शराब से हुई मौत के बाद शराब पर सख्ती लागू की थी। इसके अलावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि प्रदेश में उत्पात मचाने वाली माफिया को छोड़ा नहीं जाएगा। बल्कि उन्हें जमीन के अंदर गाड़ दिया जाएगा। अब एक बार फिर से पीसीसी चीफ कमलनाथ में सीएम शिवराज को उनके ही बयान की याद दिला दी है।