लाखों उम्मीदवारों को कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का इंतजार, इस तिथि तक जारी हो सकता है नया शेड्यूल

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के 4000 पदों पर लाखों उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। जहां जनवरी में 4000 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किए गए थे।

police constable jobs

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण का प्रभाव स्कूल छात्रों के साथ साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वालों पर भी पड़ा है। इधर मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड (Madhya Pradesh Professional Exam Board) की तरफ से पुलिस कांस्टेबल भर्ती (constable recruitment) के 4000 पदों पर भर्ती आयोजित की गई थी। जहां 6 अप्रैल को राज्य के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर इसकी परीक्षा आयोजित की जानी थी लेकिन प्रदेश में अचानक बढ़े कोरोना संक्रमण को देखते हुए परीक्षा को आगामी आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया था।

हालांकि परीक्षा स्थगित करने के बाद MPPEB जल्दी परीक्षा की नई तारीख से जारी करने की बात कही गई थी लेकिन अभी तक MPPEB की तरफ से लिखित परीक्षा को लेकर कोई नया शेड्यूल तय नहीं किया गया है हालांकि MPPEB  के अनुसार लिखित परीक्षा की नई तारीख जल्दी जारी की जाएगी।

Read More: मंत्री विश्वास सारंग का दावा- मप्र में 48 घंटे में शुरू होगा 18+ का वैक्सीनेशन

बता दें कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के 4000 पदों पर लाखों उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। जहां जनवरी में 4000 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किए गए थे। वहीं ऑनलाइन आवेदन भरे जाने की अंतिम अवधि मार्च तक रखी गई थी। इस दौरान प्रदेश के लाखों भेज दे जरा परीक्षा का इंतजार किया जा रहा है। वही प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड की मान्यता लिखित परीक्षा की नई तारीख मई या जून के अंत में जारी की जाएगी।

बता दें कि प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार में माई के शुरुआत से ही स्थिरता देखी जा रही है। जहां पॉजिटिविटी रेट में लगातार कमी हो रही है वही रिकवरी रेट में तेजी से सुधार हो रहा है। सरकारी व्यवस्थाओं को बल देने के साथ-साथ संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के कई हिस्से में लॉकडाउन और आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की गई है। वहीं गांव में पूरी तरह से कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है।

ब्रेक द चेन रूल के तहत लगातार संक्रमण की रफ्तार को तोड़ने के लिए बड़े फैसले लिए जा रहे हैं। वहीं प्रदेश के लोगों से वैक्सीन प्रक्रिया में ज्यादा से ज्यादा भाग लेने की अपील की जा रही है। विशेषज्ञों का मानना है कि मई के अंत और जून के शुरूआत तक कोरोना रफ्तार में कमी देखी जाएगी। जिसके बाद माना जा रहा है कि एक बार फिर से परीक्षाओं का दौर शुरू होगा।