मंत्री विश्वास सारंग का दावा- मप्र में 48 घंटे में शुरू होगा 18+ का वैक्सीनेशन!

विश्वास सारंग ने कहा कि प्रदेश में लगातार पॉजिटिविटी रेट में कमी देखी जा रही है। वहीं मामलों में स्थिरता के साथ-साथ रिकवरी रेट में तेजी से उछाल आया है।

कोरोना कर्फ्यू

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के युवाओं को वैक्सीन (vaccine) लगना तय किया गया था लेकिन डोज (dose) के ऑर्डर देने जाने के बाद भी कंपनी द्वारा समय पर वैक्सीन निर्माण ना किए जाने की वजह से तारीखों को टाल दिया गया था। अब एक बार फिर से उम्मीद जताई जा रही है कि मध्य प्रदेश में जल्द 18 साल से अधिक उम्र के युवाओं को वैक्सीन लगना शुरू हो जाएगा। इस मामले में अब चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (vishwas sarang) ने बड़ा बयान दिया है।

दरअसल चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि अगले 48 घंटे के अंदर केंद्र सरकार द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक 18 साल से अधिक उम्र के युवाओं को मिलने का कार्यक्रम शुरू कर दिया जाएगा। वहीं उन्होंने प्रदेश के युवाओं से अपील की है कि वह ज्यादा से ज्यादा संख्या में आगे आएं और वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन (registration) करवाएं।

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मोदी सरकार के नेतृत्व में वैक्सीनेशन के लिए वैट सेल बनाई गई है। जिसके बाद अब प्रदेश में 18 से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगना शुरू होने वाले है। कई प्रदेश और देश के कई हिस्सों में युवाओं को वैक्सिन लगना शुरू हो चुका है।

Read More: ममता को हराने वाले सुवेंदु के काफिले पर हमला, बोले अधिकारी- बंगाल में आतंक का माहौल

इतना ही नहीं सारंग ने कहा कि मैं युवा साथियों से अपील करता हूं कि अनुशासन का पालन करते हुए व्यवस्थित रूप से वैक्सीन अवश्य लगाएं। विश्वास सारंग ने कहा कि वैक्सीन को लेकर लोगों में जागरूकता आई है। कुछ लोगों ने अफवाह फैलाने का काम किया था लेकिन आज वह लोग भी वैक्सीन लगाने के लिए आगे आ रहे हैं।

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि प्रदेश में लगातार पॉजिटिविटी रेट में कमी देखी जा रही है। वहीं मामलों में स्थिरता के साथ-साथ रिकवरी रेट में तेजी से उछाल आया है। प्रदेश सरकार द्वारा अस्पतालों को वेंटीलेटर और ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए प्रयास सुनिश्चित किए जा रहे हैं। सभी व्यवस्थाओं को व्यवस्थित किया जा रहा है, कोविड सेंटर का निर्माण किए जाएंगे।