VIDEO: देशभक्ति के जज्बे के साथ शहीद कन्हैया लाल जाट को दी गई अंतिम विदाई

पार्थिव देकर के गांव में में पहुंचते ही माहौल बहुत ज्यादा गमगीन होने के साथ-साथ देशभक्ति के नारों से गूंज उठा।

रतलाम, सुशील खरे। सिक्किम में पदस्थ लांस नायक शहीद कन्हैया लाल जाट का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचा। जहां पर भारी मात्रा में लोगों ने एकत्रित होकर उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि अर्पित करी। इस दौरान रतलाम जिले के जनप्रतिनिधियों सहित उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव के द्वारा भी उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

आज सुबह रतलाम जिला चिकित्सालय से सहित कन्हैया लाल का पार्थिव शरीर सेना के वाहन से उनके पैतृक गांव गुनावद रवाना हुआ। इस दौरान उनके साथ महू बटालियन की एक टुकड़ी भी शामिल थी। सेना के वाहन के पीछे काफी मात्रा में लोग चार पहिया तथा दो पहिया वाहनों पर चल रहे थे। उन्होंने अपनी गाड़ियों पर तिरंगा लगा रखा था तथा देशभक्ति के नारे लगा रहे थे।

Read More: ग्वालियर की बेटी की मदद के लिए आगे आये सोनू सूद, दिया इंजेक्शन के इंतजाम का भरोसा

पार्थिव देकर के गांव में में पहुंचते ही माहौल बहुत ज्यादा गमगीन होने के साथ-साथ देशभक्ति के नारों से गूंज उठा। सैन्य टुकड़ी के द्वारा उन्हें गार्ड आफ ऑनर देकर सलामी दी गई तथा सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। उल्लेखनीय की कन्हैया लाल जाट मात्र 32 साल के थे तथा उनके पीछे वह उनकी दादी मां पिता भाई बहन पत्नी सहित दो पुत्रियां को छोड़कर गए हैं। 22 तारीख से ही परिवार का रो रो कर बुरा हाल है। आज उन्होंने भारत मां के सपूत के अंतिम दर्शन किए इस दौरान सभी की आंखें नम थी।