ग्वालियर, अतुल सक्सेना। BJP के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री एवं विधायक अजय विश्नोई (ajay vishnoi) की नाराजगी को अब सरकार में बैठे लोग गंभीरता से नहीं ले रहे। प्रदेश के MSME मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा (Omprakash Saklecha) इसे संयुक्त परिवार में होने वाली छोटी मोटी बात मानते हैं । उन्होंने कहा कि परिवार में नई बहुयें आती है, कई कल्चर से आती हैं लेकिन खानदान का नाम नहीं बदलता, ये प्रक्रिया है नये आते हैं पुराने रिटायर (retire) होते हैं। राजी नाराजगी तो चलती रहती है।

Read More: राष्ट्रविरोधी गतिविधियां, नक्सली और माफियाओं को कुचल कर रख देंगे- नरोत्तम मिश्रा

ग्वालियर दौरे पर पहुंचे मध्यप्रदेश के सूक्ष्म एवं लघु उद्योग MSME मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा विधायक अजय विश्नोई की नाराजगी की सिरे से खारिज कर दिया। पत्रकारों से बात करते हुए शिवराज के मंत्री ने यहाँ तक का दिया कि आपको लगती होगी नाराजगी हमें नहीं लगती। राजी नाराजगी परिस्थितियों के हिसाब से चलती रहती हैं घाव लगते हैं भरते रहते हैं।

पत्रकारों ने जब अजय विश्नोई के मुख्यमंत्री को संबोधित कड़े शब्दों वाले ट्वीट का हवाला दिया तो एक दार्शनिक के अंदाज में मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने कहा कि ये संयुक्त परिवार का मामला है जैसे संयुक्त परिवार में नई बहुयें आती है, अलग अलग कल्चर से आती हैं लेकिन खानदान वही रहता है उसका नाम नहीं बदलता । उन्होंने कहा ये एक प्रक्रिया है नये आते हैं पुराने रिटायर होते हैं और उन सबके माध्यम से सब चीजें चलती रहती हैं भाजपा में भी सब ऐसे ही चलती रहेंगी। आप लोगों को नाराजगी दिखती होगी हमें नहीं दिखती ये सब सामान्य बातें हैं।