नेता हो तो ऐसा, मंत्रीजी ने बना डाला कस्बे में मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल

सागर डेस्क रिपोर्ट। कोरोना के लगातार बढते संक्रमण के बीच प्रदेश के एक मंत्री ने एक ऐसा काम कर डाला है जो लोगों के लिए मिसाल बन गया है। उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र के कस्बे में आधुनिक सुविधाओं से युक्त मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल बना दिया है जहां कोरोना संक्रमित मरीजो का निशुल्क इलाज होगा ।

कोवीशील्ड वैक्सीन के नए रेट, अब निजी अस्पतालों को 600 रुपए में मिलेगा एक डोज

यूं तो मध्यप्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री गोपाल भार्गव दशकों से अपने क्षेत्र के निवासियों का निशुल्क इलाज कराते आए हैं, लेकिन कोरोना के इस काल में जब इलाज को लेकर हर तरफ मारामारी मची है, गोपाल भार्गव ने एक ऐसा उदाहरण पेश किया है जो नेताओं के लिए मिसाल बन गया है। उन्होंने अपने क्षेत्र गढ़ाकोटा में अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाया है। इस हॉस्पिटल में शुरुआत में 50 कोरोना मरीजो का इलाज होगा। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस हॉस्पिटल को किसी भी निजी अस्पताल की तुलना में बेहतर बनाने के दृष्टिकोण से हर उपाय किए गए हैं जिसमें टेलीविजन, म्यूजिक सिस्टम, बेहतरीन साफ-सफाई का इंतजाम किया गया है। इसके साथ-साथ मरीजों और उनके परिजनों के लिए शानदार भोजन का इंतजाम भी निशुल्क करने की व्यवस्था की गई है। इस अस्पताल की खासियत यह भी है कि इसमें सीटी स्कैन निशुल्क की जाएगी और 4 घंटे के भीतर मरीज का इलाज शुरू कर दिया जाएगा। मंत्री गोपाल भार्गव का मानना है कि सागर जिले के मेडिकल कॉलेज और जिला चिकित्सालय में जिस तरह से मरीजो की स्थिति है। उसे देखते हुए इस तरह के अस्पताल न केवल जिला मुख्यालय पर मरीजों का दबाव कम करेंगे बल्कि लोगों को आने-जाने की परेशानी से भी निजात मिल पाएगी।

मरीजों को न हो कोई परेशानी, अस्पताल के बाहर कोरोना प्रभारी मंत्री ने बिताई रात

मंत्री जी का यह नवाचार उन नेताओं के लिए एक प्रेरणा है जो चुनाव के वक्त जनता के लिए मरने मिटने की कसमें खाते हैं लेकिन जब इस तरह के सेवा के मौके आते हैं तो बजाय व्यक्तिगत प्रयास करने के एक दूसरे को खुश कर केवल और केवल राजनीति चमकाते रहते हैं।