MP Board: कक्षा 9वीं से 12वीं तक के लिए माशिमं ने जारी किया क्वेश्चन बैंक, देखें यहां

जल्द ही सारे विषयों के प्रश्न बैंक अपलोड कर दिए जाएंगे।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा (board examination) 30 अप्रैल 2021 से शुरू होगी। जिसको लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) ने तैयारियां शुरू कर दी है। वही माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश में हाईस्कूल (high school) और हायर सेकेंडरी (higher secondary) के विद्यार्थियों के लिए प्रश्न बैंक (question bank) जारी किया है। विद्यार्थी 10वीं और 12वीं क्वेश्चन बैंक के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल की ऑफिशियल वेबसाइट (official website) पर विजिट कर सकते हैं।

दरअसल माध्यमिक शिक्षा मंडल ने सभी विषयों के लिए प्रश्न बैंक अपलोड करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वही मंडल का कहना है कि सभी विषयों के प्रश्न बैंक फिलहाल अपलोड किए जा रहे हैं। वहीं जिन विषयों के प्रश्न पत्र अब तक अपलोड नहीं हुए हैं। उसके लिए विद्यार्थी लगातार ऑफिशियल वेबसाइट पर बने रहे। जल्द ही सारे विषयों के प्रश्न बैंक अपलोड कर दिए जाएंगे।

Read More: फीस और ऑनलाइन क्लास के लिए स्कूल के बाहर हंगामा, नारे लगे शिवराज मामा न्याय दिलाओ  

ज्ञात हो कि सेकेंडरी एजुकेशन बोर्ड द्वारा जारी किए गए क्वेश्चन बैंक से विद्यार्थियों को बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए आसानी हो जाती है। वही माना जाता है की बोर्ड परीक्षा में कई प्रश्न क्वेश्चन बैंक से ही पूछे जाते हैं। कोरोना काल की वजह से जहां विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित हुई है। वही क्वेश्चन बैंक उनकी परीक्षा की सफलता में एक बड़ी भूमिका निभा सकते है। जिसको लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल दसवी और बारहवीं बोर्ड परीक्षा के लिए क्वेश्चन बैंक जारी किया है।

विद्यार्थी इस लिंक के जरिए संबंधित विषयों के क्वेश्चन बैंक देख सकते हैं:-

http://bsemp.nic.in/OnlineServises/LearningCenter/Pages/View_Question_From_Question_Bank.aspx?HTMLC=MTI%3d&HTMLSUBC=MzIw

बता दें कि इससे पहले पिछले बोर्ड मीटिंग में 10वीं और 12वीं की परीक्षा ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से होगी। इसको लेकर चर्चा की गई थी। बोर्ड के चेयरमैन राधेश्याम जुलानिया ने कहा था कि फिलहाल बोर्ड मीटिंग में कोई भी निर्णय नहीं लिया जा सकता है इसलिए विद्यार्थियों को थोड़ा और इंतजार करना होगा। वही राधेश्याम जुलानिया का कहना था कि यदि कोरोना का संक्रमण लगातार फैलता है तो 10वीं और 12वीं की परीक्षा ऑनलाइन ओपन बुक एग्जाम के माध्यम से ली जा सकती है।