mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में MP Board 10वीं 12वीं की परीक्षा (exam) को रद्द कर दिया गया। परीक्षा रद्द होने के बाद से लगातार विद्यार्थियों के रिजल्ट तैयार करने के फार्मूले (formulae) को लेकर महत्वपूर्ण बैठक की जा रही है। हालांकि परीक्षा परिणाम तैयार करने का फॉर्मूला (formulae) अब तक निश्चित नहीं किया जा सका है। वहीं बुधवार को मंत्री समूह की बैठक में एक राय नहीं बनने की वजह से अब फार्मूला सीएम शिवराज (CM Shivraj) को भेजे जाएंगे।

दरअसल अब वाणिज्य विषय (Commerce) ने परीक्षा परिणाम बनाने की स्थिति में रोड़ा डाल दिए हैं। हाई स्कूल परीक्षा परिणाम के आधार पर Higher सेकेंडरी का परीक्षा परिणाम तैयार किया जा रहा है लेकिन हाई स्कूल 10th में कॉमर्स विषय ना होने के कारण अब असमंजस की स्थिति हो गई है। कॉमर्स विषय ना होने की वजह से कॉमर्स के विद्यार्थियों को किस आधार पर अंक दिए जाएंगे। इसके फार्मूला तय करने कि मंत्री समूह को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।

बुधवार को भी मंत्री समूह की बैठक आयोजित की गई। जिसमें 12वीं के परीक्षा परिणाम तैयार किए जाने को लेकर अंतिम निर्णय होना था। मंत्रियों के समूह बैठक में एक निर्णय नहीं होने की वजह से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) को रिजल्ट तैयार करने के सुझाव भेजे जाएंगे। जहां सीएम शिवराज (CM Shivraj) अब इस मामले में अंतिम निर्णय लेंगे।

Read More: MP में Delta plus वैरिएंट से मरीज के मौत की पुष्टि, कलेक्टर का बड़ा बयान

इससे पहले MP Board द्वारा CBSE के फार्मूले को अपनाने से इंकार कर दिया गया था। इसमें कहा गया था कि 11वीं के परीक्षा परिणाम और 12वीं के तिमाही और छमाही के अंक ना होने की वजह से CBSE के फार्मूले को MP Board में लागू नहीं किया जा सकता। वहीं अब कॉमर्स विषय के छात्रों के परीक्षा परिणाम किस तरह से तय किए जाएंगे। इसमें पेंच फसता नजर आ रहा है।

इससे पहले बुधवार को मंत्री समूह की बैठक आयोजित की गई। जिसमें खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (yasodhara raje scindia) के अलावा उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग सहित अन्य मंत्रियों ने सुझाव दिए। वह सारे सुझाव मुख्यमंत्री को भेजे जा रहे हैं।

वहीं परीक्षा परिणाम तैयार करने की अंतिम मंत्री समूह की बैठक 28 जून को आयोजित की जाएगी। जहां मंत्री समूह 12वीं की परीक्षा परिणाम तैयार करने में आ रही दिक्कतों के बारे में सीएम शिवराज को जानकारी देंगे। शिवराज सरकार की कोशिश की कि 30 जुलाई से पहले 10वीं-12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए जाएं लेकिन फार्मूला तय करने में लगातार हो रही देरी के कारण ऐसा संभव नहीं लग रहा है।