MP Board: 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए नहीं हुआ यह काम, लग सकता है झटका

ज्ञात हो कि विद्यार्थियों को तिमाही छमाही और 12वीं परीक्षा के लिए पांच-पांच प्रोजेक्ट पूरे करने होते हैं।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में इस बार होने वाली बोर्ड परीक्षाएं (MP Board exam) कई तरह के सवालों से घिरी हुई है। एक तरफ जहां 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा पैटर्न (Exam pattern) चर्चा का विषय बने हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ अब तक विद्यार्थियों को प्रोजेक्ट वर्क (project work) का विषय नहीं भेजा गया है। बता दे कि प्रदेश में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा 30 अप्रैल 2021 से शुरू हो रही है। वहीं अब तक मंडल का 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों को प्रोजेक्ट वर्क के विषय ना भेजना चिंता का बड़ा विषय हैं।

दरअसल माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) ने 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए सभी विषयों में प्रोजेक्ट वर्क लागू कर दिया है। विज्ञान (science) को छोड़कर हिंदी (hindi), अंग्रेजी (english), संस्कृत (sanskrit), गणित और उर्दू में भी प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। वही 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा अप्रैल महीने से शुरू होने वाली है जबकि 9वी और 11वीं की परीक्षा भी मार्च में शुरू हो जाएगी। जहां 100 अंकों का बंटवारा 80 अंक की थ्योरी (theory) और 20 अंक के प्रोजेक्ट के साथ किया गया है।

इस मामले में शासकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य का कहना है कि अभी भी स्कूल में 50 से 60 फ़ीसदी विद्यार्थी स्कूल पहुंच रहे हैं। वहीं प्राचार्य का कहना है कि परीक्षा के बाद प्रोजेक्ट वर्क का कार्य शुरू किया जाएगा।

Read More: जबलपुर में फल की दुकान में लगी आग, खाली फायर टैंकर लेकर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम

10वीं की बोर्ड परीक्षा विद्यार्थियों के लिए मूल्यांकन प्रक्रिया

10वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को इस साल गणित (Maths) विषय में 80 अंक की थ्योरी और 15 अंक के प्रोजेक्ट के साथ 5 अंक की नोटबुक सहित 100 अंक का मूल्यांकन किया जाएगा। जबकि सामाजिक विज्ञान (Social science) में 80 अंक की थ्योरी और 15 अंक के प्रोजेक्ट के साथ नोटबुक पर 5 अंक दिए जाएंगे। वहीं हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत में भी इसी तरह का प्रावधान है। हालांकि विज्ञान (Science) विषय 70 अंक की थ्योरी और 30 अंक के प्रैक्टिकल के साथ मूल्यांकित होंगे।

12वीं की बोर्ड परीक्षा विद्यार्थियों के लिए मूल्यांकन प्रक्रिया

वही 12वीं में विषयों की गणना के लिए गणित 100 अंक। वही भौतिकी (Physics), रसायन (chemistry) और जीव विज्ञान (Biology) 70 की थ्योरी और 30 की प्रैक्टिकल के साथ मूल्यांकित होगी। इसके अलावा कृषि, भूगोल, मनोविज्ञान और बायो टेक्नोलॉजी (bio technolgy) सहित इनफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिसेज (Informatics Practices), होम साइंस (home science) और पशु पालन, मुर्गी पालन एवं मत्स्य पालन भी 70 अंक की थ्योरी और 30 अंक के प्रैक्टिकल के साथ मूल्यांकन किए जाएंगे।

वही 12वीं वाणिज्य के छात्रों के लिए व्यवसायिक अध्ययन और व्यवसायिक अर्थशास्त्र तथा बुक कीपिंग और अकाउंटेंसी 80 अंक की थ्योरी और 20 अंक के प्रोजेक्ट के साथ मूल्यांकन किए जाएंगे।

Read More: MP Board: 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा पैटर्न को लेकर आई यह बड़ी खबर, असमंजस में छात्र

बता दें कि 10वीं और 12वीं के प्रोजेक्ट के विषय बच्चों को मिलने के बाद प्रोजेक्ट वर्क के अंक स्कूल द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल को भेजे जाते हैं। लेकिन इस बार कोरोना की वजह से स्कूलों को बंद रखा गया था। जिसके बाद अभी अर्धवार्षिक परीक्षा ली जा रही है। बावजूद इसके तिमाही के प्रोजेक्ट वर्क भी जमा नहीं कराए गए हैं। ज्ञात हो कि विद्यार्थियों को तिमाही छमाही और 12वीं परीक्षा के लिए पांच-पांच प्रोजेक्ट पूरे करने होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here