MP College: उच्च शिक्षा विभाग ने यूजी और पीजी के छात्रों को दी बड़ी राहत

मंत्री मोहन यादव ने कहा कि प्लेसमेंट सेल द्वारा अधिक विद्यार्थियों को प्रतिष्ठित कंपनियों में रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। इसलिए इन्हें अत्यधिक प्रभावी बनाना चाहिए।

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में उच्च शिक्षा विभाग (higher education department) ने शासकीय महाविद्यालय (government college) के यूजी (UG) और पीजी (PG) के छात्रों को बड़ी राहत दी है। विभाग ने निर्देश देते हुए कहा कि स्नातक और स्नातकोत्तर के छात्र अच्छा 26 फरवरी 2021 तक प्रवेश से जुड़े दस्तावेज विश्वविद्यालय में जमा कर सकते हैं। बता दे कि पहले दस्तावेज जमा करने की अंतिम तारीख 12 फरवरी 2021 रखी गई थी।

उच्च शिक्षा विभाग द्वारा सभी विद्यार्थियों को 12 दिसंबर 2020 तक दाखिला दस्तावेज विश्वविद्यालय में जमा करने के निर्देश दिए गए थे। वही 18 दिसंबर 2020 से मध्यप्रदेश में पीजी फाइनल (PG Final) और यूजी के अंतिम वर्ष (UG Last year) की कक्षाएं शुरू हुई थी। इसके बाद कई छात्रों को दस्तावेज (Documents) जमा करने में परेशानी आ रही थी। करीबन 30% विद्यार्थियों के दस्तावेज कॉलेज में जमा नहीं हो पाए थे।

ऐसी स्थिति में एक बार फिर से उच्च शिक्षा विभाग ने स्नातक और स्नातकोत्तर के छात्रों को 26 फरवरी 2021 तक संबंधित आवेदन विश्वविद्यालय में जमा करने का समय दिया है। वहीं विभाग द्वारा कहा गया है कि ऐसे विद्यार्थी जो फिलहाल टीसी(TC), माइग्रेशन (Migration) जैसे दस्तावेज जमा नहीं कर सकते उनके एडमिशन वचन पत्र के आधार को मान्य कर उनका एडमिशन अप्रूव किया जाए।

Read More: पुलवामा की बरसी : आतंकियों की बड़ी साजिश नाकाम, जम्मू से 7 किलो RDX बरामद 

इससे पहले उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव (mohan yadav) ने युवाओं की ट्रेनिंग (training) और प्लेसमेंट (placement) के लिए महाविद्यालय में स्थापित प्लेसमेंट सेल को प्रभावी बनाने के निर्देश दिए हैं। उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने कहा कि प्लेसमेंट सेल द्वारा अधिक विद्यार्थियों को प्रतिष्ठित कंपनियों में रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। इसलिए इन्हें अत्यधिक प्रभावी बनाना चाहिए।

बता दें कि प्रदेश के 14 सौ से अधिक शासकीय कॉलेजों में दूजी में 5000 से अधिक और पीजी में 3000 से अधिक विद्यार्थियों ने दाखिला लिया है। वहीं प्रदेश में प्रवेश प्रक्रिया 5 अगस्त से शुरू की गई थी।बावजूद इसके छात्रों द्वारा अब तक जरूरी दस्तावेज विश्वविद्यालय को उपलब्ध नहीं कराए गए हैं। ऐसी स्थिति में उच्च शिक्षा विभाग ने यूजी और पीजी के विद्यार्थियों को एक अंतिम मौका और दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here