MP News

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) पर गेहूं उपार्जन (Wheat procurement) के लिए किसानों को शिवराज सरकार ने बड़ी राहत दी है। दरअसल समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए रजिस्ट्रेशन (registration) की तारीख को आगे बढ़ा दिया गया है। किसान 25 फरवरी तक पंजीयन करा सकेंगे।

सरकार ने पहले एमएसपी (MSP) पर गेहूं उपार्जन के लिए 20 फरवरी आखिरी तारीख निर्धारित की थी। किंतु समर्थन मूल्य पर गेहूं व चने (Gram) के उपार्जन के लिए पंजीयन कराने वाले किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। किसानों द्वारा लगातार सर्वर डाउन (server down) और साइट की धीमी गति की शिकायत सामने आ रही थी। जिसके बाद शिवराज सरकार (shhivraj government) ने एमएसपी पर गेहूं उपार्जन के पंजीयन की तिथि 25 फरवरी तक बढ़ा दी है।

Read More: Bhopal News: RSS विवादित जमीन पर HC का फैसला, सभी गतिविधियों पर अगले आदेश तक रोक

बता दें कि करीब 58 हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं की बोवनी हुई है। खाद विभाग के अधिकारियों ने उम्मीद जताई है की खरीदी काफी अच्छी होने की संभावना है। इससे पहले गेहूं खरीदी को लेकर सरकार ने नया फैसला लिया है। जिसके मुताबिक सरकार खरीदी के लिए गोदाम संचालकों को विकल्प के रूप में जगह दी जाएगी। गोदाम संचालक सरकार के लिए पंजीयन का कार्य करेंगे। इसके लिए गोदामों का चयन किया जाएगा।

फसलों के अधिक भंडारण के लिए सरकार द्वारा यह फैसला लिया गया है। हालांकि इसके लिए गोदाम संचालकों को गेहूं खरीदी से पहले पंजीयन करवाना पड़ेगा। किसानों की सुविधा के लिए इस पर गेहूं खरीदी के लिए 4530 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। प्रदेश में 22 मार्च से एमएसपी पर गेहूं की खरीदी की जाएगी। एमएसपी पर गेहूं खरीदी प्रति क्विंटल 1975 रुपए तय की गई है।