MP News: BJP विधायक की CM Shivraj से बड़ी मांग, युवाओं को मिलेगा फायदा

जिस पर अब बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने संज्ञान लिया है, वहीँ उन्होंने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर बड़ी मांग की है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में 4 साल से MPPEB कॉन्स्टेबल की भर्ती (constable recruitment) नहीं हुई है। प्रदेश के 12 लाख से अधिक आवेदक MPPEB की कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में 2017 में पुलिस कांस्टेबल (police recruitment) की परीक्षा आयोजित की गई थी। वहीं 4000 पदों पर वैकेंसी (vacancy) निकलने के बाद बार-बार MPPEB द्वारा परीक्षा स्थगित कर रहा है। जिस पर अब बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने संज्ञान लिया है, वहीँ उन्होंने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर बड़ी मांग की है।

बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर उन्हें प्रवेश पत्र जारी किए जाने और प्रवेश परीक्षा की तिथि सुनिश्चित करने की मांग की है। नारायण त्रिपाठी ने लिखा कि वर्ष 2017 से अब तक प्रदेश में पुलिस भर्ती नहीं हुई है, जिसके कारण पिछले 4 साल से युवा बेरोजगार और परेशान है। 2020 में पुलिस भर्ती हेतु 4000 पद के लिए आवेदन बुलाए गए थे। जिसकी परीक्षा date लगातार आगे बढ़ाई जा रही है।

Read More: MP : 8 दिनों में 66 मामले, इस जिले में बढ़े केस, CM Shivraj का बड़ा बयान

इस मामले में BJP MLA नारायण त्रिपाठी का कहना है कि लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा लगातार परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। पुलिस भर्ती परीक्षा की तिथि तय है ना होने से और परीक्षा कार्यक्रम जाए ना होने से युवा बेरोजगार और आवेदक में आक्रोश पनप रहा है।

बीते दिनों प्रदेश के युवाओं ने भोपाल में आंदोलन किया था। जिसमें लाठी चार्ज होने से असहज स्थिति निर्मित हुई थी। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) से परीक्षा की तिथि सुनिश्चित कर आवेदक को प्रश्न पत्र जारी करने के निर्देश देने की मांग की है ताकि बेरोजगार युवाओं का आक्रोश शांत हो और उनकी चिंता का समाधान हो सके।

वही करुणा की दूसरी लहर को देख कर MPPEB 1 मार्च फिर अप्रैल और अब नवंबर में परीक्षा कराने का शेड्यूल जारी किया है। दरअसल 6 मार्च को परीक्षा की तिथि घोषित की गई थी लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बाद 6 अप्रैल को एक Schedule जारी किया गया। जिसके मुताबिक MPPEB की परीक्षा अक्टूबर-नवंबर में होने की संभावना जताई गई है।

वहीं आवेदकों का कहना है कि यदि अक्टूबर-नवंबर में भी कोरोना अपने चरम पर पहुंचता है तो एक बार फिर से परीक्षा की तिथि आगे बढ़ सकती है। Exam कराने के लिए 52 जिलों में अब तक 4000 से ज्यादा आवेदन सरकार के पास भेजे जा चुके हैं। वहीं आवेदकों का कहना है कि यूपीएससी की परीक्षा जब हो सकती है तो MPPEB परीक्षा क्यों नहीं ले रहा।

MP News: BJP विधायक की CM Shivraj से बड़ी मांग, युवाओं को मिलेगा फायदा