MP : 8 दिनों में 66 मामले, इस जिले में बढ़े केस, CM Shivraj का बड़ा बयान

dewas

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में कोरोना (corona) संक्रमण को लेकर स्थिरता बनी हुई है लेकिन लगातार आ रहे के प्रशासन की चिंता बढ़ा रहे हैं। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 5 नए मामले सामने आए हैं। वही इतने ही लोग स्वस्थ हो अपने घर वापस लौट गए हैं। जिन जिलों में कोरोना केस (corona cases) के मामले रिकॉर्ड किए गए उसमें राजगढ़ में दो इंदौर में दो जबकि जबलपुर में एक मामला सामने आया है। वहीं प्रदेश में एक्टिव केसों (active case) की संख्या बढ़कर 84 हो गई है जबकि पॉजिटिविटी रेट 0.01% रिकॉर्ड किया गया है।

प्रदेश में पिछले 8 दिनों में 66 नए मामले दर्ज किए गए जबकि एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा मामले जबलपुर जिले में रिकॉर्ड किए गए हैं। हालांकि राहत भरी खबर यह है कि रिकवरी प्रदेश में 98.66% हो गया है। जबलपुर में जहां बीते 7 दिनों में 18 नए मामले सामने आए हैं। वहीं इंदौर भोपाल राजगढ़ परिवार में भी संक्रमण के मामले बढ़ते दिख रहे हैं।

Read More: VIDEO: खाना खाते समय पुलिस ने किया केंद्रीय मंत्री को अरेस्ट, गिरफ़्तारी प्रक्रिया पर उठे सवाल

वहीं मध्यप्रदेश में संक्रमण की रफ्तार को रोकने के लिए और तीसरी लहर की आशंका को पूरी तरह से खत्म करने के लिए 25 और 26 अगस्त को महा अभियान आयोजित किया जाएगा। मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वैक्सीनेशन के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए घर-घर संपर्क का काम क्राइसिस मैनेजमेंट टीम और प्रशासन करे। अगर किसी के मन में वैक्सीन को लेकर भ्रम है, तो उसे दूर करें। CM Shivraj ने कहा कि गर्भवती महिलाएं भी वेक्सिनेशन अभियान से जुड़कर टीकाकरण अवश्य कराएं और जच्चा-बच्चा दोनों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

चौहान ने कहा कि 25 और 26 अगस्त को आयोजित वैक्सीनेशन महाअभियान-2 से लोगों को जोड़ने के लिए गाँव और वार्ड में घर-घर संपर्क किया जाए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि दिव्यांग और बुजुर्ग लोगों को केंद्र तक लाने के लिए वाहनों की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि महाअभियान में अच्छा कार्य करने वाले जिलों को पुरस्कृत किया जायेगा।

जिलों को बेहतर कार्य करने और अधिक से अधिक टीकाकरण के लिए क्रमश:प्रथम,द्वितीय व तृतीय पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। श्री चौहान ने कहा कि टीकाकरण केंद्रों पर चाय पानी की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।टीकाकरण केंद्र पर आब्जर्वेशन के लिए रूकने की दृष्टि से उपयुक्त व्यवस्थाएँ सुनिश्चित हो।

मामले में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि सोमवार को 55000 लोगों की जांच की गई है। कोरोना पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है केरल महाराष्ट्र में केस बढ़ रहे हैं। हमें सतर्क रहने की जरूरत है। सरकार पूरे प्रदेश में नजर बनाए हुए है।