MP News: 2021 का पहला LOCKDOWN, कहीं सड़कें सुनसान, कहीं पुलिस डंडे से पीटे गए लोग

21 मार्च को मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) की मुख्य परीक्षा के मद्देनजर परीक्षार्थियों के लिए बीसीएलएल (BCLL) की बसें चालू रखने के निर्देश दिए गए हैं। राजधानी भोपाल के चार रूटों पर बसों का संचालन किया जाएगा।

Lockdown

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना को लेकर स्थिति दिनोंदिन गंभीर होती जा रही है। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को रोकने के लिए राज्य शासन द्वारा नाइट कर्फ्यू (night curfew) और सख्ती का ऐलान किया लेकिन बावजूद इसके तेजी से संक्रमण के आंकड़े बढ़ रहे हैं। जिसके बाद आज प्रदेश के 3 जिलों में लॉकडाउन (lockdown) लगाया गया है।

हालांकि अभी तक की बात करें तो राजधानी के पुराने क्षेत्र में शासन के निर्देश का पालन नहीं हो रहा है। सुलतानिया रोड पर बिना मास्क (mask) लगाए लोग घूम रहे हैं।वहीं सड़कों पर क्रिकेट भी खेला जा रहा है। साथ ही दुकानें भी खुली है। बता दें कि लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाएं और उद्योग चालू रहेंगे। लॉकडाउन के दौरान इन जिलों में धारा 188 लागू रहेगी। घर से निकलने पर गिरफ्तारी संभव है। वहीं शहर की सड़कों पर 2500 से ज्यादा पुलिसकर्मी की तैनाती की गई है। वही लोग डॉन के दौरान यदि कोई दुकानदार नियमों का उल्लंघन करता है तो उसे 5000 फाइन देना होगा। जबकि दूसरी और तीसरी बार लगातार नियम का उल्लंघन करने पर 10000 जुर्माना वसूला जाएगा।

वही 21 मार्च को मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) की मुख्य परीक्षा के मद्देनजर परीक्षार्थियों के लिए बीसीएलएल (BCLL) की बसें चालू रखने के निर्देश दिए गए हैं। राजधानी भोपाल के चार रूटों पर बसों का संचालन किया जाएगा। सुबह 7:00 बजे से 8:00 बजे के बीच हलालपुर बस स्टैंड, हबीबगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर वन, आईएसबीटी बस स्टैंड के विभिन्न केंद्र सहित मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 6 पर भी बसें उपलब्ध रहेंगी।

Read More: SDM ने किया कॉलेज का औचक निरीक्षण, सामने आई चौंकाने वाली तस्वीरें

वही परीक्षार्थियों को असुविधा ना हो। इसके लिए बीसीएलएल ने कॉल सेंटर नंबर भी जारी किया है। परीक्षार्थी अपने केंद्र तक पहुंचने के लिए किस बस का चयन करें। इससे संबंधित जानकारी के लिए बीसीसीएल के कॉल सेंटर नंबर 97523 99966 पर संपर्क कर सकते हैं।

BHOPAL LOCKDOWN UPDATE: इन तीन जिलों के अन्य लोगों के गैरजरूरी कामों के लिए घर से निकलने पर रोक लगाई गई है। कलेक्टर अविनाश लवानिया के माने राजधानी में सांची पार्लर बंद रहेंगे। घर-घर दूध बांटने के लिए सुबह 6:00 से 10:00 बजे तक की छूट दी गई। इसके अलावा शराब की दुकान, पेट्रोल पंप फल सब्जी की दुकानें बंद रही। दवा की दुकान खुली रही। वहीं परीक्षार्थियों को देखते हुए ऑटो कैब भी चलेंगे। वही मीडिया कर्मी को अपने साथ संस्थान का पहचान पत्र रखना आवश्यक होगा। तभी उन्हें कवरेज की छूट रहेगी। हालांकि सुबह 9:00 बजे से पहले तक सड़कों पर लोग आते जाते दिखे। जिसके बाद 10:00 बजे से पुलिस बैरिकेड लगाकर सख्ती की गई।

INDORE LOCKDOWN UPDATE: जबकि इंदौर में सड़कें पूरी तरह से सुनसान रही सुबह चाय नाश्ते की स्टाल तक नहीं लगे। सड़कों पर आवाजाही बनी रही। हालांकि यह आवाज आई परिवहन और MPPSC के छात्रों की सुविधा के लिए जारी रखी गई थी। वही रीगल चौराहे पर पुलिस ने बेवजह घूमने वाले को डंडे से मार कर भगाया।

JABALPUR LOCKDOWN UPDATE: जबलपुर की बात करें तो जबलपुर में अस्पताल और मेडिकल को छोड़कर सभी दुकान बंद है। क्षेत्र में 34 पॉइंट पर चेकिंग के लिए 1500 जवानों की तैनाती की गई है। पीएसी के उम्मीदवारों के लिए बसों की सुविधा और आवाजाही को मंजूरी दी गई है। इसके साथ ही साथ कॉल सेंटर नंबर भी जारी किया गया है।

प्रदेश के इन तीन शहरों में संक्रमण के मामले को देखते हुए तीनों शहरों पर प्रतिबंध लगाया गया। सभी तरह के संस्थानों को बंद रखा गया है। दुकान, होटल, प्रतिष्ठान, स्पोर्ट्स कंपलेक्स, स्विमिंग पूल, रेस्टोरेंट, खानपान की दुकानें, मंडिया, शराब, दुकान, किराना दुकान, सब्जी दुकान सब चीजों को बंद रखा गया है।

बता दें कि बीते दिनों मध्यप्रदेश में संक्रमण के 1300 से अधिक मरीजों की पुष्टि हुई है। प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए 21 मार्च से हर रविवार को टोटल लॉकडाउन के निर्देश शासन ने दिए हैं। इस दौरान ये रोक शनिवार रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक जारी रहेगा। वही 31 मार्च तक इन तीनों जिलों के स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे।

इस बंदी के दौरान सामाजिक समारोह आयोजित करने के लिए प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। हालांकि आर्थिक गतिविधियों को देखते हुए शिवराज सरकार पूरी तरह से लॉक डाउन लगाने के पक्ष में नहीं है। जिसके बाद प्रदेश की जनता से संक्रमण से बचने की अपील की जा रही है।