MP: सहकारिता विभाग की बड़ी कार्रवाई, 9 अध्यक्ष-उपाध्यक्ष 3 साल तक चुनाव लड़ने के लिए अपात्र

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राजधानी में सहकारिता विभाग (cooperative Department) ने सोसायटी अध्यक्ष (Society President) पर कड़ी कार्रवाई की है। जहां उन्हें 3 साल के लिए अपात्र घोषित कर दिया गया। इसके बाद आगामी निर्वाचन प्रक्रिया (Upcoming election process) में अब ये सोसायटी अध्यक्ष और उपाध्यक्ष हिस्सा नहीं ले सकेंगे।

दरअसल राजधानी में ऑडिट (audit) न करवाने पर सहकारिता विभाग ने संस्थाओं पर कार्रवाई की है। जहां संस्था के साथ 9 अध्यक्ष और 2 उपाध्यक्ष को ऑडिट ना करवाने पर निष्कासित कर दिया गया है। इसके साथ ही 9 संस्थाओं के साथ अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को 3 साल के लिए संस्था के चुनाव लड़ने के लिए अपात्र भी घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद अभी इन 7 संस्थाओं के अध्यक्ष की जगह संस्था की जिम्मेदारी उपाध्यक्ष पर होगी और उन्हें अब संस्था का ऑडिट कराना होगा।

Read More: Datia News: अवैध रेत उत्खनन और परिवहन जारी, ओवरलोड ट्रैक्टर चालकों को नहीं पुलिस का भय

जिन हाउसिंग सोसायटी के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष  पर कार्रवाई की गई है। उनमें आदिवासी गृह निर्माण के आर एल ठाकुर, विकास कुंज गृह निर्माण के भगवत सिंह, अंचल के निर्माण के विशेष शर्मा, यूनिक रेसिडेंसी रखरखाव सोसाइटी के मान सिंह रावत, आवास पर्यावरण गृह निर्माण के घनश्याम अग्रवाल, सिद्धार्थ महिला बड़ी पापड़ अचार औद्योगिक सोसाइटी के काजल राय पर कार्रवाई की गई है। इसके अलावा आकांक्षा गृह निर्माण के राजकुमार और निवास गृह निर्माण के अविनाश लालचंदानी उपाध्यक्ष पर भी कार्रवाई की गई है।

इस मामले में सहायक आयुक्त छविकांत वाघमारे का कहना है कि संस्था के अध्यक्ष को लगातार नोटिस देने के बाद भी उन्होंने के द्वारा संस्था का ऑडिट नहीं कराया गया। जिसके बाद निष्कासन की कार्रवाई से पहले उन्हें अंतिम नोटिस दी गई थी। बावजूद इसके उनकी तरफ से कोई पहल ना आने पर यह कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि लोगों 50 संस्थाओं पर और कार्रवाई की जा रही है। जिन्होंने संस्थाओं का ऑडिट नहीं कराया है। इन संस्थाओं के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की जाएगी।