MP School : स्कूल शिक्षा विभाग की बड़ी कार्रवाई, 4 स्कूली शिक्षकों की बर्खास्तगी

MP School: स्कूल शिक्षा विभाग के फैसले के खिलाफ अदालत जाने का फैसला किया है क्योंकि भर्ती नियमों में इस शर्त का उल्लेख नहीं किया गया था।

MP school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department)द्वारा MP School के चार शिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर दी गयी हैं। दरअसल आयुक्त स्कूल शिक्षा अभय वर्मा ने कहा कि एक ही शैक्षणिक सत्र में दोहरी डिग्री प्राप्त करने पर विभाग ने ये फैसला लिया है। इन शिक्षकों को अक्टूबर, 2021 में नियुक्ति दी गई थी। जिन शिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। उन्होंने स्कूल शिक्षा विभाग के फैसले के खिलाफ अदालत जाने का फैसला किया है क्योंकि भर्ती नियमों में इस शर्त का उल्लेख नहीं किया गया था।

जिन शिक्षकों की सेवाएं समाप्त की गई हैं, उनमें रवि मीणा और मोहन साहू शामिल हैं। जो सीहोर जिले के स्कूलों में पदस्थापित हैं जबकि महेंद्र सिंह और मुकेश कुमार राजगढ़ जिले के स्कूलों में पदस्थापित हैं। उन सभी को पिछले महीने नियुक्ति दी गई थी और उन्हें समाप्त कर दिया गया था। उन्होंने उसी सत्र में दोहरी डिग्री प्राप्त की थी। उन सभी ने नियमित छात्रों के रूप में बीएड किया और निजी उम्मीदवारों के रूप में मास्टर डिग्री प्राप्त की।

Read More : Indian Railways : यात्रीगण कृपया ध्यान दें! ऑनलाइन टिकट बुकिंग के लिए IRCTC ने बदले नियम

शिक्षाविद् एवं व्हिसल ब्लोअर देवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि हाल ही में सरकारी शिक्षकों के रूप में चुने गए लगभग 250 उम्मीदवारों के खिलाफ समान प्रकृति की शिकायतें थीं। सिंह ने कहा कि इनमें से अधिकांश शिक्षकों ने एक डिग्री पाठ्यक्रम नियमित छात्र के रूप में और दूसरा पत्राचार या निजी छात्र के रूप में किया। इस तरह के मामले सुप्रीम कोर्ट में लड़े गए हैं और सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि उनकी सेवाएं समाप्त नहीं की जानी चाहिए।

सिंह ने कुछ शिक्षकों के खिलाफ चयनात्मक कार्रवाई पर भी सवाल उठाया। 250 अभ्यर्थियों के खिलाफ शिकायतें थीं, लेकिन सिर्फ चार शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई क्यों? नाम न छापने का अनुरोध करने वाले शिक्षकों में से एक ने कहा कि वे अदालत का रुख करेंगे।