Indian Railways : यात्रीगण कृपया ध्यान दें! ऑनलाइन टिकट बुकिंग के लिए IRCTC ने बदले नियम

Indian Railways : IRCTC भारतीय रेलवे के तहत टिकट ऑनलाइन (ई-टिकट) बेचता है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारतीय रेलवे (Indian railways) द्वारा रेल यात्रियों (Rail Passengers) के लिए काम की खबर है। अगर आप भी ट्रेन (Train) से यात्रा करते हैं और ऑनलाइन ट्रेन टिकट (online Train Ticket) लेते हैं, तो पहले इस खबर को जरूर पढ़ें। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) से ऑनलाइन टिकट खरीदने वालों को अब मोबाइल और ई-मेल वेरिफिकेशन (E-mail Verification) करना होगा। उसके बाद ही आपको टिकट मिलेगा।

रेलवे का नया नियम

कोरोना संक्रमण के कारण लंबे समय से टिकट की बुकिंग नहीं कराने वाले यात्रियों के लिए रेलवे ने नए नियम बनाए हैं। ऐसे लोगों को आईआरसीटीसी पोर्टल से टिकट खरीदने के लिए पहले अपना मोबाइल नंबर और ईमेल सत्यापित करना होगा। उसके बाद ही आपको टिकट मिलेगा। हालांकि जिन यात्रियों ने नियमित टिकट बुक कराया है उन्हें इस प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा।

Read More: MPHC Recruitment 2021: इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, जाने पात्रता सहित अन्य जानकारी

ऑनलाइन टिकट बुकिंग सेवा

IRCTC भारतीय रेलवे के तहत टिकट ऑनलाइन (ई-टिकट) बेचता है। यात्री टिकट के लिए इस पोर्टल पर लॉगिन और पासवर्ड बनाते हैं। और फिर ऑनलाइन बुकिंग का लाभ उठाएं। लॉगिन पासवर्ड बनाने के लिए आपको ईमेल और फोन नंबर देना होगा। यानी आप ईमेल और फोन नंबर वेरिफाई करने के बाद ही टिकट बुक कर सकते हैं।

जानिए क्यों बनाए गए नियम

कोरोना का कहर थमते ही ट्रेनों ने ट्रैक पर दौड़ना शुरू कर दिया है. ऐसे में टिकटों की बिक्री भी बढ़ गई है. फिलहाल 24 घंटे में करीब आठ लाख ट्रेन टिकट की बुकिंग हो रही है। आईआरसीटीसी के दिल्ली मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर और उससे पहले जो खाते पोर्टल पर निष्क्रिय थे, उसे सुनिश्चित करने के लिए मोबाइल नंबर और ईमेल सत्यापन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

सत्यापन कैसे किया जाता है?

जब आप आईआरसीटीसी पोर्टल पर लॉग इन करते हैं, तो सत्यापन विंडो खुलती है। उस पर पहले से पंजीकृत ईमेल और मोबाइल नंबर दर्ज करें। अब बाईं ओर एडिटिंग और दाईं ओर वेरिफिकेशन का विकल्प है। आप संपादन विकल्प चुनकर अपना नंबर या ईमेल बदल सकते हैं। सत्यापन का विकल्प चुनने पर आपके नंबर पर एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) प्राप्त होगा। ओटीपी डालने के बाद आपका मोबाइल नंबर वेरीफाई हो जाता है। इसी तरह ईमेल के लिए भी वेरिफिकेशन करना होगा। यह ईमेल पर प्राप्त ओटीपी के माध्यम से सत्यापित होता है।