MP School: 8वीं से 12वीं तक के बच्चों के लिए बड़ा मौका, बोर्ड परीक्षा में मिलेगा लाभ

तब से अब तक 7051 विद्यार्थी और 600 शिक्षक यात्रा में भाग ले चुके हैं। इस बार यात्रा ने प्रदेश के कुल 1051 विद्यार्थी भाग ले रहे हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में 8वीं से लेकर 12वीं तक के स्कूली बच्चों (school student)  के प्रतिभा को निखारने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। जहां प्रदेश के 52 जिले से प्रतिभाशाली चयनित बच्चों के लिए शैक्षणिक मंथन यात्रा की शुरुआत की गई है। विज्ञान मंथन यात्रा की शुरुआत 18 जनवरी 2021 से शुरू हो चुकी है। इस यात्रा से 8वीं से 12वीं कक्षा तक के बच्चों को विज्ञान की तरफ अग्रसर करना और विज्ञान के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। वहीं अप्रैल महीने से 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं (Board exam) भी शुरू हो रही है। विज्ञान मंथन यात्रा से निश्चित ही बोर्ड परीक्षा के विद्यार्थियों को बड़ा फायदा मिलेगा।

दरअसल मध्यप्रदेश में आयोजित 14वीं विज्ञान मंथन यात्रा में 7 वैज्ञानिक संस्था का वर्चुअल भ्रमण 8वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों को कराया जाएगा। इस मामले में महानिदेशक अनिल कोठारी का कहना है की उत्कृष्टता मिशन कार्यक्रम के तहत विज्ञान मंथन यात्रा शुरू की गई थी। जिसका मुख्य उद्देश्य स्कूली बच्चों को विज्ञान में रुचि दिलाने के साथ-साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण का प्रचार और बच्चों को विज्ञान के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए उत्साहित करना है।

Read More:MP Board : 10 वीं और 12 वीं के छात्रों के सामने फिर खड़ी हुई यह परेशानी

वही महानिदेशक अनिल कोठारी ने बताया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए पहली बार प्रदेश के बच्चों को विज्ञान प्रयोगशाला की वर्चुअल सैर कराई जा रही है। इसके साथ ही साथ बच्चे वैज्ञानिकों से कौशल संवाद करेंगे और सवाल पूछेंगे। इसके साथ ही बच्चों को वीडियो प्रेजेंटेशन के माध्यम से वैज्ञानिक अनुसंधान और विकास गतिविधियों से भी परिचित कराया जाएगा।

बता दें कि इस विज्ञान मंथन यात्रा की शुरूआत वर्ष 2007 में की गई थी। तब से अब तक 7051 विद्यार्थी और 600 शिक्षक यात्रा में भाग ले चुके हैं। इस बार यात्रा ने प्रदेश के कुल 1051 विद्यार्थी भाग ले रहे हैं। विद्यार्थी देश के विभिन्न हिस्से के वैज्ञानिक अनुसंधान और इंस्टिट्यूट रिसर्च हिस्सा बनेंगे और उन्हें सवाल पूछने का भी अवसर मिलेगा। वहीं इस यात्रा का समापन 28 जनवरी को होगा।