भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। Corona की दूसरी लहर थमने के बाद मध्य प्रदेश में MP School सरकारी स्कूल (government school) के प्रवेश प्रक्रिया (admission process) शुरू कर दी गई है। प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने के बाद भी विद्यार्थी सहित अभिभावकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल Private स्कूल संचालकों द्वारा लगातार हो रही फीस बढ़ोतरी के बाद अब विद्यार्थी सरकारी स्कूलों की तरफ रुख करना चाहते हैं।

इसी सिलसिले में निजी स्कूलों से स्थानांतरण प्रमाण पत्र (Transfer certificate) मांगी जा रही लेकिन निजी स्कूलों द्वारा विद्यार्थियों को टीसी (TC)  उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। इसकी वजह से प्रदेश के कई ऐसे छात्र ।हैं जिन्हें MP School उत्कृष्ट विद्यालय, मॉडल स्कूल (Model school) में प्रवेश मिलने में दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। TC ना मिलने की वजह से विद्यार्थी आवेदन की प्रक्रिया पूरी नहीं कर पा रहे हैं।

Read More: MP News: BJP ने घोषित की जिला कार्यकारिणी, मचा बवाल, ये है पूरा मामला

बता दें कि प्रदेश के MP School में 30 जून तक प्रवेश प्रक्रिया पूरी करने की तिथि नियत की गई है। विद्यार्थियों कहना है कि निजी स्कूलों द्वारा TC नहीं देने की वजह से वह Admission की प्रक्रिया पूरी नहीं कर पा रहे हैं जबकि मामले में निजी स्कूलों का कहना है कि विद्यार्थियों की फीस बकाया है। यदि स्कूलों की तरफ से उन्हें TC दे दिया जाता है तो फिर बच्चे फीस अदा नहीं करेंगे। जिसका नुकसान निजी स्कूलों को होगा।

बता दी कि प्रदेश में 15 जून से दूरदर्शन के माध्यम से पढ़ाई की शुरुआत की जाएगी। MP School बारहवीं कक्षा के लिए सुबह 8:00 से 9:00 बजे तक जबकि 10वीं कक्षा के लिए 9:30 से 10:30 बजे तक शैक्षणिक कार्य प्रसारित किए जाएंगे। हालांकि अभी स्कूलों को खोलने पर कोई सहमति नहीं बनी है। प्रवेश प्रक्रिया समाप्त होने के बाद कोरोना की लहर को देखते हुए राज्य सरकार स्कूल खोलने मामले में फैसला लेगी।