MP Weather Update: मौसम ने बदला मिजाज, इन संभागों में आंधी सहित बारिश के आसार

पश्चिमी विक्षोभ के बादलों के टकराव के बाद तापमान में 1 से 2 डिग्री की गिरावट भी दर्ज की जाएगी। वहीं प्रदेश के कुछ इलाके में अगले 24 घंटे में हल्की बारिश के साथ आंधी चलेगी।

WEATHER

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में एक बार फिर से मौसम (weather) का मिजाज बदल गया है। गुरुवार देर रात से ही तेज हवाएं चलनी शुरू हो गई है। वही बीती रात पचमढ़ी, जबलपुर, छिंदवाड़ा जिले में हल्की बारिश हुई है। जबकि शुक्रवार सुबह से ही बूंदाबादी (rain) से मौसम सुहावना बना हुआ है। राजधानी भोपाल (bhopal) और इंदौर (indore) में तापमान (temperature) में गिरावट दर्ज की गई है। मौसम वैज्ञानिकों ने रविवार तक मौसम ऐसे ही बने रहने के संकेत दिए हैं।

मौसम वैज्ञानिकों की माने तो प्रदेश में 14 तारीख तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहने वाला है। बता दें कि मौसम केंद्रों द्वारा बारिश का पूर्वानुमान बताया गया था। दरअसल मध्यप्रदेश में चार सिस्टम (4 system) एक साथ एक्टिव है। जहां दक्षिण पूर्वी मध्य प्रदेश में डेढ़ किलोमीटर ऊपर तक एक चक्रवाती हवा का घेरा बना हुआ है। इसके साथ ही एक पश्चिमी विक्षोभ का टकराव आज मध्य प्रदेश की हवाओं से होगा। जिसके बाद प्रदेश के अन्य हिस्से में बादल छाने लगेंगे और बूंदाबांदी जारी रहेगी।

Read More: Bank News: 15 मार्च से दो दिवसीय हड़ताल पर मध्य प्रदेश के लगभग 45 ग्रामीण बैंक के अधिकारी और कर्मचारी

पश्चिमी विक्षोभ के बादलों के टकराव के बाद तापमान में 1 से 2 डिग्री की गिरावट भी दर्ज की जाएगी। वहीं प्रदेश के कुछ इलाके में अगले 24 घंटे में हल्की बारिश के साथ आंधी चलेगी। मौसम वैज्ञानिकों द्वारा जिन इलाके में बारिश की संभावना जताई गई है। उसमें ग्वालियर, चंबल, रीवा, जबलपुर, सागर संभाग सहित राजधानी भोपाल और इंदौर में भी झमाझम के आसार है।

हुई हल्की बूंदाबांदी

इससे पहले होशंगाबाद जिले सहित पचमढ़ी, जबलपुर, छिंदवाड़ा जिले में गुरुवार को हल्की बूंदाबांदी हुई। साथ ही ग्वालियर संभाग के गुना जिले में 12 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो राज्य के कई हिस्से में बारिश और ओलावृष्टि के अनुमान जताया गए हैं। साथ ही प्रदेश में रविवार तक मौसम ऐसा ही बना रह सकता है।

Read More: राहुल गांधी के बयान पर सीएम शिवराज का पलटवार- क्या मप्र में बिना लोकतंत्र बनाई थी सरकार?

किसानों को डर- फसलों को होगा भारी नुकसान

बता दें कि श्योपुर में रात भर से सुबह करीब 9:30 बजे तक तेज हवा के साथ झमाझम बारिश होती रही जिससे करने के लिए तैयार खड़ी गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा है इसके साथ ही सरसों और चने की फसल भी बारिश में भीग गई है। फसलों को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है लेकिन किसानों को डर है अगर बारिश या ओलावृष्टि होती है तो उनकी फसल को भारी नुकसान होगा। जबकि सरसों और चना की फसल खेत से काटी जा चुकी है उसे मंडी में बेचने के लिए खदानों में रखा गया है। वहां फसलें भी तेज बारिश की वजह से भीग गई है। जिसको सुखाने की कवायद जारी है।

12 राज्यों में आंधी का अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में राजस्थान के कोटा, भरतपुर, जयपुर में भी मौसम के बदलाव के संकेत दिए हैं। इसके अलावा 12 राज्यों में आंधी का अलर्ट जारी किया गया है। जिसमें पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़, पश्चिम बंगाल, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में तेज गरज के साथ आंधी के आसार जताए गए हैं।

MP Weather Update: मौसम ने बदला मिजाज, इन संभागों में आंधी सहित बारिश के आसार