MP यूथ कांग्रेस चुनाव: आज से शुरू होगा मतदान, वोटिंग से पहले इस नेता ने वापस लिया नाम

जिसके बाद अध्यक्ष पद के लिए अब मैदान में कुल 9 प्रत्याशी है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में आज से यूथ कांग्रेस के चुनाव (youth congress election) शुरू हो जाएंगे। इससे पहले अध्यक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैं। एनएसयूआई (NSUI) के अध्यक्ष विपिन वानखेड़े (Vipin Wankhede) ने अपना नाम वापस ले लिया है। इतना ही नहीं एनएसयूआई के अध्यक्ष विपिन वानखेड़े ने विवेक त्रिपाठी (vivek tripathi) को अपना समर्थन दिया है।

बता दे कि मध्य प्रदेश में 7 साल बाद यूथ कांग्रेस का चुनाव होने जा रहा है। वहीं 10 दिसंबर यानी आज से मतदान की प्रक्रिया शुरू हो रही है। इससे पहले बुधवार को एनएसयूआई अध्यक्ष विपिन वानखेड़े ने अपना नाम अध्यक्ष पद से वापस ले लिया है। इसके साथ ही विधायक विपिन वानखेड़े ने एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी को अपना समर्थन दे दिया है। जिसके बाद अध्यक्ष पद के लिए अब मैदान में कुल 9 प्रत्याशी है।

Read More: Transfer: सीएम शिवराज का एक्शन, कटनी कलेक्टर और नीमच एसपी का तबादला, इनको मिला प्रभार

बता दें कि मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस के चुनाव के लिए आज से तीन दिन यानि (10 11 और 12 दिसंबर) तक मतदान किया जाएगा। वही देश में कर्नाटक के बाद यह दूसरा ऐसा संगठन चुनाव है। जिसमें ऑनलाइन वोटिंग (online voting) की जाएगी। युवा कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए 9 प्रत्याशी के बीच मुकाबला होगा। उम्मीदवारों में से कई बड़े नेता पुत्र भी युवा कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए मैदान में है।

जिसमें कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया का नाम भी शामिल है। इसके अलावा संजय सिंह यादव, अजीत बोरासी अध्यक्ष पद के लिए ताल ठोक रहे हैं। इसके अलावा एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी भी चुनावी मैदान में खड़े हैं। वहीं दूसरी तरफ सतना विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा और शाहपुरा विधायक भूपेंद्र सिंह मरावी भी चुनावी मैदान में खड़े है।

इसके अलावा 3 युक्तियां उम्मीदवार पिंकी मुद्दल, मोना कौरव और एकता ठाकुर के नाम भी अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए मैदान में शामिल है। युवा कांग्रेस के संगठन चुनाव में ऑनलाइन वोटिंग की जाएगी। जिसे प्रदेश के कुल 4 लाख मतदाता वोटिंग करेंगे। वही एक वोटर पांच लोग प्रदेशाध्यक्ष प्रदेश महासचिव जिला अध्यक्ष जिला महासचिव असेंबली कमेटी की रिपोर्ट कर सकेगा।