हो जाइए अब सतर्क, प्रदेश में आज रात से रात्रिकालीन कर्फ्यू, कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद सरकार का फैसला

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज से रात्रिकालीन कर्फ्यू की घोषणा कर दी है, रात्रिकालीन कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक पूरे प्रदेश में एक बार फिर लगाया जाएगा। दरअसल ओमीक्रॉन के देश में बढ़ते मामलों के बाद अब केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को अलर्ट बरतते हुए निर्देश दिए है,जिसके बाद मध्य प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है।

आखिरकार मध्यप्रदेश सरकार ने भी बढ़ते कोरोना मामले के बाद फिर से नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा।  शिवराजसिंह चौहान ने खुद इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि यदि किसी के घर में संक्रमित मिलता है। आइसोलेशन की जगह नहीं है, तो उसे अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में केस ज्यादा आ रहे हैं यह चिंताजनक है। मध्यप्रदेश में भी 24 घंटे में 30 केस मिले हैं। ऐसे में बेहद जरूरी है कि कड़े कदम उठाए जाए, इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगवाए, लापरवाही न करे, और कोरोना गाइड्लाइन का पालन करे, हालांकि राहत की बात है कि प्रदेश में अभी ओमिक्रान के मामलें सामने नहीं आए है, लेकिन उसके पहले ही सरकार ने फैसला लेते हुए रात्रिकालीन कर्फ्यू का यह फैसला लिया है।

हो जाइए अब सतर्क, प्रदेश में आज रात से रात्रिकालीन कर्फ्यू, कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद सरकार का फैसला

यह भी पढ़ें.. Omicron Alert : दिल्ली सरकार ने की तैयारी, रोज होंगे 3 लाख टेस्ट, बढ़ेगा होम आइसोलेशन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि मेरी आपसे प्रार्थना है कि अब देर ना करें, मास्क जरूर लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं, अनावश्यक भीड़ में ना जाएं और अब तक अगर किसी ने वैक्सीन का डोज नहीं लिया, तो टीका जरूर लगवाएं। पहला लगा लिया हो तो दूसरे में देर ना करें, अगर अवधि पूरी हो गई हो तो तुरंत दूसरा टीका भी लगवाएं, COVID19 नए स्वरूप ओमीक्रॉन के रूप में देश के 16 राज्यों में आ चुका है। पूरी दुनिया का अनुभव देखें तो ओमीक्रॉन बहुत तेजी से फैलता है। यह देखते हुए मुझे अंतरआत्मा से लगता है कि यह सही समय है, जब हम सचेत हो जाएं और कोविड की तीसरी लहर को आने से रोकने के लिए हर आवश्यक उपाय करें।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में भी कोरोना की दूसरी लहर यानि की डेल्टा वैरिएंट ने तबाही मचा दी थी, पिछली बार बने हालातों को देखते हुए सरकार ने पहले ही एहतियात के तौर पर इस बार पहले ही रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने का कदम उठाया है।