शिक्षक

जबलपुर, संदीप कुमार। राज्य शासन के कड़े निर्देश के बाद प्रदेश के बड़े अधिकारियों द्वारा लगातार कार्यालय का निरीक्षण किया जा रहा है। साथ ही साथ लापरवाही करने वाले कर्मचारी अधिकारी पर गाज भी गिर रही है। ऐसा ही एक मामला अब जबलपुर (jabalpur) जिले में सामने आया है। जिसके बाद संभागायुक्त (Divisional commissioner) ने दोनों कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस (notice) जारी किया है।

दरअसल मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में संभाग संभाग आयुक्त दफ्तर के निरीक्षण पर निकले। इस दौरान कार्यालय के एक कक्ष में दो कर्मचारी मोबाइल पर फिल्म देखने में व्यस्त हैं। कर्मचारियों को भनक भी नहीं लगी कि कमिश्नर (Commissioner) बी शेखर उनके बगल में खड़े हैं।

Read More:  Indore News: Geeta को लेकर PAK का दावा गलत, परिवार से मिलने में आ रहे अभी पेंच

हालांकि जब उनकी नजर संभागायुक्त पर पड़ी तो दोनों हड़बड़ा गए और मोबाइल को बंद करके रख दिया। जिसके बाद संभागायुक्त बी चंद्रशेखर (B Chandrashekhar) ने तत्काल ही दोनों कर्मचारियों पर कार्रवाई करने के लिए नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। वही कलेक्टर के निर्देश के बाद कार्यालय में पदस्थ दोनों कर्मचारी सुरेश कॉल (suresh kaul) और बी के सोनी (B.K.Soni) के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है और उनसे पूछा गया है कि उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई क्यों न की जाए।

बता दें कि मध्य प्रदेश में लगातार कलेक्टर कमिश्नर द्वारा विभागों का निरीक्षण किया जा रहा है। इसके साथ ही साथ अधिकारी कर्मचारी की लापरवाही पर उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई भी की जा रही है। बावजूद इसके अधिकारी कर्मचारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।