निरीक्षण के लिए निकले सीएम शिवराज के मंत्री, बुजुर्ग की शिकायत पर अधीक्षक को नोटिस

कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) की क्लीनिकल ट्रायल (clinical trial) की तैयारियों पर बात करते हुए मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि तैयारियां पूरी है लेकिन वॉलिंटियर नहीं मिल रहे हैं। जिस वजह से वैक्सीन का ट्रायल शुरू नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा ताकि अधिक से अधिक वॉलिंटियर्स (volunteers)  सामने आएं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में स्थाई होने के बाद एक बार फिर से शिवराज सरकार (shivraj government) एक्शन में आ गई है। लगातार शिवराज सरकार के मंत्री प्रदेश का औचक निरीक्षण कर रहे हैं और खामियों पर ध्यान देने की कोशिश करें। इसी बीच चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (vishwas sarang) अस्पताल (hhospital) का औचक निरीक्षण करने के लिए हमीदिया (hamidia) पहुंचे थे।

दरअसल चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने निरीक्षण के दौरान एक पैर कटे एक मरीज से पूछताछ की। जब मंत्री विश्वास सारंग ने बुजुर्ग से पूछा कि परेशानी क्या है तो बुजुर्ग ने बताया कि घंटे भर से वहां बैठे हैं लेकिन खिड़की तक नहीं पहुंच पा रहे हैं ताकि पर्ची बनवा सके। जिसके बाद मंत्री विश्वास सारंग ने बुजुर्ग को इलाज के लिए वार्ड में भिजवाया।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अस्पताल के निरीक्षण करने के बाद अव्यवस्था को परखा और इसके साथ ही साथ डीन डॉ अरुण कुमार, अधीक्षक आरडी चौरसिया सहित अस्थि रोग विभाग के एचओडी को फटकार भी लगाई। वहीं उन्होंने अधीक्षक को नोटिस भी जारी कर दिया है।

इसके साथ ही उन्होंने हमीदिया अस्पताल के पीजी छात्रों से बात की। छात्रों ने बताया कि शाम 5:00 बजे तक की लाइब्रेरी को बंद कर दिया जाता है। इसके साथ ही छात्रों ने लाइब्रेरी 24 घंटे खोलने की मांग की है। जिस पर मंत्री विश्वास सारंग ने डीन (Dean) से बात की। उन्होंने कहा कि लाइब्रेरी का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। जिस वजह से लाइब्रेरी को 5 बजे बंद करना पड़ रहा है।

मीडिया से बात करते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि सुल्तानिया अस्पताल को हमीदिया में शिफ्ट किया जाना है जिसके लिए पूरा प्लान तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि नई बिल्डिंग के ब्लॉक बी में 6 माह में सुल्तानिया अस्पताल को शिफ्ट किया जाएगा। उन्होंने बताया कि हम एरिया के बचाव और को भी नई बिल्डिंग के ब्लॉक बी में ही सिर्फ किया जाएगा।

Read More: Raid: स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार का घिनौना खेल, संदिग्ध अवस्था में मिले युवक युवतियां

वहीं कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) की क्लीनिकल ट्रायल (clinical trial) की तैयारियों पर बात करते हुए मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि तैयारियां पूरी है लेकिन वॉलिंटियर नहीं मिल रहे हैं। जिस वजह से वैक्सीन का ट्रायल शुरू नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा ताकि अधिक से अधिक वॉलिंटियर्स (volunteers)  सामने आएं।

बता दें कि इससे पहले शिवराज सरकार के ऊर्जा मंत्री विभागों का जायजा लेने निरीक्षण पर निकले थे। गौरतलब है कि शिवराज सरकार ने सभी मंत्रियों को हिदायत दी है कि सभी मंत्रियों को एक सप्ताह या 15 दिन में लगातार अपने विभागों की रिपोर्ट सौंपनी होगी। इसी बात से शिवराज कैबिनेट के मंत्री एक्शन में और लगातार निरीक्षण और कार्रवाई कर रहे हैं।