कोरोना संकटकाल के बीच अतिथि शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर

MP board

भोपाल।
कोरोना संकट के बीच मध्यप्रदेश के अतिथि शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर है।अतिथि शिक्षकों को लॉकडाउन अवधि में 30 अप्रैल तक पूरा वेतन दिया जाएगा। इस संबंध में प्रदेश शासन के स्कूल शिक्षा विभाग ने निर्देश जारी कर दिए हैं।सरकार के इस फैसले के बाद अतिथि शिक्षकों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

दरअसल, देश में कोरोना संकट को देखते हुए केंद्र सरकार ने मार्च में पूरे देश में लॉक डाउन का ऐलान किया था।इस दौरान सरकार ने स्कूल, कॉलेज सहित सभी शैक्षणिक संस्थाओं को भी बंद रखने का निर्देश दिया था। हालांकि राज्य शासन के आदेश के तहत सत्र 2019-20 में अतिथि शिक्षकों को स्कूलों में रखा गया था। मार्च माह में स्थानीय परीक्षा, मूल्यांकन, परीक्षा फल तैयार कर परीक्षा परिणाम की घोषणा जैसे कार्यों को लेकर अतिथि शिक्षकों की सेवाएं 30 अप्रैल तक बढ़ा दी गईं थी, स्कूल बंद होने के बाद अतिथि शिक्षकों के सामने वेतन का संकट खड़ा हो गया था।लेकिन राज्य सरकार ने उन्हें इस संकटकाल के बीच राहत दी है और वेतन देने का फैसला किया है।

लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री क्यावत ने आदेश जारी किया है कि चूंकि नया सत्र 1 अप्रैल से शुरू हो गया था इसलिए अतिथि शिक्षकों की सेवाएं 30 अप्रैल तक लिए जाने के आदेश जारी कर दिए गए थे। अब उनके वेतन भुगतान के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।