सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। बीते दिनों हिंडालको बरगवां प्लांट से पुणे के लिए भेजे जा रहे एलमुनियम (aluminum) की चोरी के मामले में पुलिस को सफलता मिली है। सिंगरौली (Singrauli) जिले के बरगवां पुलिस ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) से तीन आरोपियों को चोरी गए एलमुनियम के साथ गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की इस कार्रवाई से कोरिया छत्तीसगढ़ के कबाड़ माफियाओं में भी हड़कंप मच गया।

यह भी पढ़ें… योग दिवस के अवसर पर शुरू होगा महा वैक्सीनेशन अभियान, दमोह जिले के 126 केंद्रों पर लगाई जाएगी वैक्सीन

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते 9 जून को हिंडालको महान एलमुनियम प्लांट बरगवां से वेस्टर्न मेटल इंडस्ट्रीज पुणे के लिए भेजा जा रहा 30 टन 62 किलो एलमुनियम की सिल्लियां चोरी हो गई थी। जिसकी कीमत करीब 75 लाख रुपए बताई गई थी। मामले का खुलासा तब हुआ जब ट्रक का लोकेशन मिलना बंद हो गया। इसके बाद हिंडालको में कार्यरत इंडो आर्य सेंट्रल ट्रांसपोर्ट के ट्रैफिक इंचार्ज ने इस बाबत बरगवां थाने में तहरीर दी। जिसमें उन्होंने बताया कि बीते 6 दिनों से पुणे के लिए निकला ट्रक क्रमांक UP 44AT 4204 वहां पहुंचा ही नहीं।

इस भारी मात्रा में एलमुनियम की चोरी का शक जाहिर में सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह के निर्देशन पर अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू की गई। जिसके बाद एसडीओपी राजीव पाठक के मार्गदर्शन में बरगवां निरीक्षक नागेन्द्र प्रताप सिंह ने एक टीम गठित कर ट्रक के तलाश ने टीम को भेजा। जहां पुलिस टीम ने ट्रक का लोकेशन ट्रेस करते हुए छत्तीसगढ़ कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ जा पहुंची। जहां एक अज्ञात व्यवसाई के निजी गोदाम से पुलिस ने चोरी गया एलमुनियम को आरोपियों के साथ धर दबोचा। मामले में पता चला कि उसे ट्रक मालिक और चालक ने मिलकर छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में कबाड़ व्यवसाई को महज 25 लाख में बेच दिया था। आरोपी संदीप सिंह, सुभाष चंद्र पांडे एवं लाल सिंह पिता कृष्णचंद्र बसेरा ने बड़ी साजिश के तहत इस 75 लाख के एलमुनियम की सिल्लियों को मात्र 25 लाख रुपए में बेच दिया था। पुलिस ने अपराध क्रमांक 303/2021 धारा 407, 409, 34 आईपीसी के तहत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर आज जिला न्यायालय में पेश किया है।

सिंगरौली पुलिस ने पकड़ा चोरी हुआ एलमुनियम, 3 आरोपी भी गिरफ्तारसिंगरौली पुलिस ने पकड़ा चोरी हुआ एलमुनियम, 3 आरोपी भी गिरफ्तार