संक्रमण को देखते हुए सख्ती की तैयारी, सीएम शिवराज ने प्रदेशवासियों से की ये अपील

आज प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने संक्रमण के तेज रफ्तार पर चिंता जताई है। सीएम शिवराज ने कहा कि संक्रमण से स्थिति लगातार गंभीर हो रहा है। देश भर के कई हिस्से में लॉकडाउन लगा दिए गए हैं। एक बार फिर से संकट की स्थिति बन रही है।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना (corona) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश में रविवार को 3 जिलों में टोटल लॉक डाउन (total lockdown) कर दिया गया है। इसके साथ ही अन्य जिलों में नाइट कर्फ्यू (night curfew) लागू कर दिया गया है। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों से अपील की है।

दरअसल आज प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने संक्रमण के तेज रफ्तार पर चिंता जताई है। सीएम शिवराज ने कहा कि संक्रमण से स्थिति लगातार गंभीर हो रहा है। देश भर के कई हिस्से में लॉकडाउन लगा दिए गए हैं। एक बार फिर से संकट की स्थिति बन रही है। हालांकि प्रदेश सरकार संक्रमण को रोकने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। इसके साथ ही सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने मध्य प्रदेश वासियों से अपील की है कि वह अपना सहयोग दें। प्रशासन के कार्य में बाधा उत्पन्न ना करें और मास्क जरूर लगाएं।

Read More: सिंधिया का कांग्रेस को जवाब– प्रदेश को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाया इसलिए सरकार को उखाड़ फेंका

सीएम शिवराज ने कहा कि यदि आप मास्क नहीं लगाते हैं तो केवल अपनी जिंदगी बल्कि औरों की जिंदगी को भी खतरे में डाल रहे हैं। परिवार समाज के लिए संकट का कारण बन रहे हैं। बता दे कि प्रदेश में संक्रमण के बढ़ते रफ्तार को देखते हुए राजधानी भोपाल (bhopal) सहित इंदौर (indore) और जबलपुर (jabalpur) में आगामी 31 मार्च तक स्कूल कॉलेज को बंद रखने का फैसला लिया गया। इसके साथ ही इंदौर, भोपाल और जबलपुर में शनिवार रात 10:00 बजे से सोमवार सुबह 6:00 बजे तक लॉकडाउन लगाया गया है।

इतना ही नहीं शहरों में लॉकडाउन के दौरान सामाजिक समारोह आयोजित करने से पहले प्रशासन की अनुमति लेना अनिवार्य की गई है। बता दें कि पिछले दिन सभी रिकॉर्ड को तोड़ते हुए मध्यप्रदेश में 1000 से अधिक संक्रमित की पुष्टि हुई थी। वही देश भर में यह आंकड़ा 30,000 के पार पहुंचा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना के दूसरे लहर की पुष्टि की है वहीं विदेशों में कई हिस्सों में महीने 2 महीने के लिए लोगों लगा दिया गया है। अब ऐसी स्थिति में संक्रमण और पूर्ण लॉकडाउन से बचने के लिए लगातार नए निर्देश तैयार किए जा रहे हैं। वही जनता से अपील की जा रही है कि इन निर्देशों का सावधानी से पालन करें।