पोहे की दुकान बंद कराने पहुंचे अफसरों को विधायक ने बैरंग लौटाया, कहा-पहले डोमिनोज बंद कराओ

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। पोहे वाले की दुकान बंद कराने पहुंचे नगर निगम के अफसरों को रविवार को उस समय बैरंग वापस लौटना पड़ा जब वहां कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक (MLA Praveen Pathak) पहुंच गए उन्होंने नगर निगम के अफसरों को फटकार लगाते हुए कहा कि पहले मॉल में चल रही डोमिनोज सहित अन्य बड़े बड़े दुकानदारों की दुकाने बंद कराओ फिर गरीबों को परेशान करना।  जाओ डोमिनोज बंद कराओ मैं खुद सामान तुम्हारी गाड़ी में रख दूंगा। विधायक प्रवीण पाठक (MLA Praveen Pathak) का गर्म मिजाज देखकर नगर निगम की टीम वहां से बैरंग लौट गई।

ये भी पढ़ें – मप्र में कोरोना का महा विस्फोट, 24 घंटे में मिले 5939 मरीज, लॉकडाउन के लिए गाइडलाइन जारी

शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक प्रभावी 60 घंटे के लॉकडाउन (Lockdown) में बाजार बंद कराने की जिम्मेदारी नगर निगम और जिला प्रशासन के अधिकारियों के पास है वे लॉकडाउन में खुली दुकानों का चालान कर रहे है और सामान जब्त कर ले जा रहे हैं। रविवार को ग्वालियर दक्षिण विधानसभा के रॉक्सी पुल के एक पोहा व्यापारी अपनी दुकान में पार्सल कर पोहा बेच रहा था , इतने में नगर निगम की टीम पहुँच गई , टीम के साथ मौजूद अधिकारी चालान काटने लगे और दुकान का सामान जब्त कर ले जाने लगे।

ये भी पढ़ें – मरीज बनकर कोल्ड ओपीडी पहुंचे ऊर्जा मंत्री, नहीं मिले डॉक्टर, कलेक्टर को फोन कर जताई नाराजी

इसी बीच किसी ने क्षेत्रीय कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक (MLA Praveen Pathak) को फोन कर दिया, वे तत्काल मौक पर पहुँच गये उन्होंने नगर निगम के अधिकारी से कहा कि आप इस छोटे से गरीब व्यापारी को परेशान कर रहे हो, जाओ पहले मॉल में चल रही डोमिनोज जैसी बड़ी बड़ी दुकानों को बंद कराओ तब इस गरीब के यहाँ आना , मैं खुद इसकी दुकान का सामान तुम्हारी गाड़ी में रख दूंगा। अब बहुत हो गया नाटक, मेरे यहां नहीं चलेगा, वो अंदर से पार्सल में बेच रहा है तुम्हें क्या परेशानी है, अरे एसडीएम हो या कलेक्टर कितना  दबाकर मरोगे आदमी को। विधायक प्रवीण पाठक (MLA Praveen Pathak) ने सख्त लहजे में कहा  ख़तम करो गाडी हटाओ नगर निगम की यहाँ से। कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक की फटकार सुनकर नगर निगम का अमला वहां से बैरंग वापस लौट गया।

दरअसल विधायक प्रवीण पाठक (MLA Praveen Pathak) ने डोमिनोज बंद कराने के लिए इसलिए कहा था क्योंकि सोशल मीडिया पर डोमिनोज की एक आर्डर स्लिप वायरल हो रही है जो लॉकडाउन के दौरान 10 अप्रैल की है जिसमें उसने बाकायदा आर्डर लेकर पिज्जा ऑर्डर किया है।  लेकिन मामला खुलने के बाद भी जिला प्रशासन ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।