MP News: परिवहन आयुक्त का ये नवाचार समाज के लिये बनेगा बड़ी सौगात

खास बात ये है कि युवाओं ने जहाँ अंगदान को लेकर रुचि नहीं दिखाई वहीं बुजुर्ग बहुत उत्साहित दिखे। बुजुर्गों का सोचना है कि उनकी मृत्यु के बाद यदि उनके अंग किसी के काम आ जाएँ तो इससे अच्छी बात क्या हो सकती है। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। वैसे तो अंगदान (Organ Donation) की अपील सरकारी संस्थाएं, सामाजिक संस्थाएं लगातार करती हैं लेकिन अब परिवहन विभाग (Transport Department) ये अपील कर रहा है। परिवहन विभाग ने परमानेंट ड्राइविंग लायसेंस (Permanent Driving License) बनवाने वाले आवेदकों के फॉर्म में अंगदान का ऑप्शन जोड़ा है और इसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। परिवहन आयुक्त मुकेश जैन (Transport Commissioner Mukesh Jain) के इस नवाचार की प्रशंसा हो रही है।

लिवर, आँख, किडनी जैसे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों का दान करने के लिए परिवहन विभाग (Transport Department) ने एक अभियान चलाया है। परिवहन विभाग (Transport Department) ने परमानेंट ड्राइविंग लायसेंस (Permanent Driving License) बनवाने का आवेदन करने वालों के फार्म में अंगदान (Organ Donation) का एक नया ऑप्शन जोड़ा है। परिवहन आयुक्त मुकेश जैन (Transport Commissioner Mukesh Jain) के निर्देश पर परिवहन विभाग (Transport Department) का अमला पिछले तीन महीनों से अंगदान (Organ Donation) को लेकर सर्वे भी कर रहा है। सर्वे के सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं। करीब 60 प्रतिशत लोगों ने अंगदान (Organ Donation) की इच्छा जताई है, जबकि 40 प्रतिशत ने इस कॉलम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

ये भी पढ़ें – परिचय सम्मेलन में बोले आनंदक, बेहतर रिश्तों से प्राप्त होती है सकारात्मक ऊर्जा

जानकारी के मुताबिक परिवहन विभाग (Transport Department) ने पिछले तीन महीनों में करीब 9 हजार लोगों से अंगदान (Organ Donation) को लेकर उनकी राय जानी। ये राय परमानेंट ड्राइविंग लायसेंस (Permanent Driving License) बनवाने वाले आवेदन में जोड़े गए ऑप्शन के आधार पर ली जा रही है। खास बात ये है कि युवाओं ने जहाँ अंगदान (Organ Donation)  को लेकर रुचि नहीं दिखाई वहीं बुजुर्ग बहुत उत्साहित दिखे। बुजुर्गों का सोचना है कि उनकी मृत्यु के बाद यदि उनके अंग किसी के काम आ जाएँ तो इससे अच्छी बात क्या हो सकती है।

परिवहन आयुक्त मुकेश जैन (Transport Commissioner Mukesh Jain) ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में बहुत से लोगों की मौत हो जाती है और जागरूकता नहीं होने से उन्हें समय पर मदद नहीं मिल पाती इसलिए हम समाज में जागरूकता के लिए अंगदान (Organ Donation) के लिए लोगों को प्रेरित कर रहे है। हमारे पास आवेदन फार्म के माध्यम से अंगदान (Organ Donation) करने की इच्छा जताने वालों का एक डाटा होगा जिससे जरुरत पड़ने पर किसी की मदद की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि इस अभियान के सकारात्मक परिणाम आ रहे हैं लोग स्वेच्छा से परमानेंट ड्राइविंग लायसेंस (Permanent Driving License) के आवेदन में इस ऑप्शन पर अंगदान (Organ Donation) के लिए स्वीकृति दे रहे हैं। यहाँ बता दें कि आवेदन फार्म में ये ऑप्शन करीब डेढ़ साल पहले जोड़ा गया है लेकिन लोगों ने इसपर ध्यान नहीं दिया। अब परिवहन आयुक्त मुकेश जैन (Transport Commissioner Mukesh Jain) के निर्देश पर अंगदान (Organ Donation) की मुहिम को तेज किया गया है और लोगों को इसके लिए जागरूक किया जा रहा है।