प्रधानमंत्री से मिले थॉमस कप विजेता, मोदी ने कहा “आपने देश का गौरव बढ़ाया”

मोदी ने टीम को बधाई देते हुए यह भी कहा कि जिस तरह से आपने इस टूर्नामेंट में अपना गेम दिखाया है, यह पूरे देश के लिए गौरव की बात है

pm modi

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। 73 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार थॉमस कप भारत आया। सिर्फ विजेता टीमें नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए यह गौरवान्वित करने वाला पल था। बैडमिंटन के इन सूरमाओं ने जी जान एक कर मेहनत की और पूरे देशवासियों का सपना पूरा किया। आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने थॉमस कप की पूरी टीम को मिलने के लिए बुलाया, शुभकामनाएं दी और उनसे चर्चा भी की।

Read More: हज़ारों कर्मचारियों को बड़ी राहत, मिलेगा पदोन्नति लाभ, वेतन-पेंशन भी होगी रिवाइज

प्रधानमंत्री ने प्रणव चौपड़ा से प्रश्न किया कि कैसे उन्होंने क्वार्टर फाइनल मैच से पहले के प्रेशर को न केवल संभाला बल्कि मलेशिया डेनमार्क जैसी वर्ल्ड चैंपियन टीमों के खिलाफ जीत की रणनीति तैयार की। इस सवाल का जवाब देते मैं प्रणब ने बताया की निश्चित ही क्वार्टर फाइनल के समय उन पर बहुत ही ज्यादा दबाव था पर जिस तरह पूरी टीम एक पॉजिटिव स्पिरिट के साथ काम कर रही थी और मेडल के लिए ललायत थी, उससे उन्हें काफी ऊर्जा मिली और किसी वजह से हम गोल्ड मेडल जीत सके।

प्रणव के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने टीम की उम्र में सबसे छोटी खिलाड़ी उन्नति हुडा से बात की। उन्नति ने प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि जो बात मुझे आपकी सबसे अच्छी लगती है वह यह है कि आप कभी भी ” मेडलिस्ट और बिना मेडल के खिलाड़ी में भेदभाव नहीं करते”। सीनियर खिलाड़ियों के बीच प्रेशर कंडीशन के मोदी के सवाल पर उन्नति ने बताया कि जब वह सभी को खेलता हुआ देखती हैं तो उन्हें काफी मोटिवेशन मिलता है और निश्चित ही अगली बार वह भी मेडल जीतकर जरूर लाएंगी। जब मोदी ने उन्नति से पूछा कि हरियाणा की मिट्टी में ऐसा क्या है कि वहां से गोल्ड मेडलिस्ट खिलाड़ी पैदा होते हैं और उन्नति ने बड़ी ही सहजता से जवाब दिया “दूध दही का खाना”। मोदी ने आखिर में उन्नति को बधाई देते हुए एक बात बोली कि अभी तुम्हारा कैरियर बहुत लंबा है इसलिए ‘सफलता को पचाना और आगे पहुंचना’।

Read More: कर्मचारियों को मिलेगी गुड न्यूज़, सैलरी में फिर होगा 45 हजार तक इज़ाफ़ा! जानें 8 वें वेतन आयोग पर अपडेट

मोदी ने टीम को बधाई देते हुए यह भी कहा कि जिस तरह से आपने इस टूर्नामेंट में अपना गेम दिखाया है, यह पूरे देश के लिए गौरव की बात है और उन्हें पूरा विश्वास है कि जैसा टीम के खिलाड़ी चाहते हैं वैसा ही परिणाम उन्हें मिलेगा। निश्चित ही आपको देखकर देश की युवा पीढ़ी उत्साह और ऊर्जावान महसूस कर रही है। ऐसा पिछले 70 सालों में कभी नहीं हुआ। आपने जो कारनामा कर दिखाया है वह एक बहुत बड़ा काम है। इस जीत से भारत के पूरे स्पोर्ट इकोसिस्टम और स्पोर्ट कल्चर में बदलाव और आत्मविश्वास आएगा। और हम आगे भी इस तरह जीत हासिल करेंगे ऐसा मुझे विश्वास है।

आखिर में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आजादी के 75वे अमृत महोत्सव में जिस तरह खेल की दुनिया में भारत देश का यह उदय हो रहा है, खेल की दुनिया से निकला भारत का नौजवान विश्व के मंच पर अपनी ताकत दिखा रहा है उसे देख कर पूरा भारत गर्व से भर रहा है। जिस आत्मविश्वास के साथ आप लोगों ने यह खेल खेला है यह पूरे देश के लिए गौरव की बात है।