आज इस कानून की तैयारी पर चर्चा करेंगे सीएम शिवराज, परीक्षा-कोरोना पर समीक्षा बैठक

CM Shivraj ने डीजीपी को निर्देश दिए थे कि इस मामले में नया कानून बनाने की पहल की जाए और साथ ही फास्ट ट्रैक कोर्ट के मामले चलाकर जल्द से जल्द दोषियों को सजा दिया जाए

सीएम शिवराज

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) आज कई अहम प्रस्तावों पर समीक्षा बैठक करेंगे। एक तरफ जहां सीएम शिवराज घरेलू हिंसा (Domestic violence) पर कठोर कानून बनाने के लिए बैठक करेंगे। वही कोरोना (corona) पर भी समीक्षा बैठक की जाएगी। इसके अलावा नर्मदा घाटी विकास, नशा मुक्ति अभियान सहित जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

सुबह 11:00 बजे सीएम शिवराज (CM Shivraj) घरेलू हिंसा पर कठोर कानून बनाने संबंधी बैठक करेंगे। बता दें कि पिछले दिनों इस मामले में डीजीपी (DGP) को निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि वो आईपीसी (IPC) की धारा के आधार के अलावा इस मामले में नया कानून बनाने के लिए कार्य शुरू करें।

ज्ञात हो कि पिछले 15 दिनों मध्य प्रदेश के घरेलू हिंसा के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। वहीं 9 मार्च को हुई एक घटना में एक पति ने दरिंदगी की सारी सीमाएं लांघते हुए फरसे से पत्नी पर कई वार किए और उसके बाएं पैर का पंजा काट दिया था। इस तरह की दो बड़ी घटनाएं एक के बाद एक करके फिर से सामने आई। जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना को गंभीर बताया है।

Read More:MP Board: 12वीं बोर्ड परीक्षा के Time Table में एक बार फिर हुआ संशोधन, देखे यहां

सीएम शिवराज ने कहा कि यह घटनाएं नहीं बल्कि विश्वास की हत्या है। वहीं उन्होंने डीजीपी को निर्देश दिए थे कि इस मामले में नया कानून बनाने की पहल की जाए और साथ ही फास्ट ट्रैक कोर्ट के मामले चलाकर जल्द से जल्द दोषियों को सजा दिया जाए। जिसके बाद आज घरेलू हिंसा पर कठोर कानून बनाने संबंधी बैठक करेंगे। वहीं स्मार्ट सिटी पार्क में पौधारोपण के बाद उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा की परीक्षा से संबंधित बैठक लेंगे।

सीएम शिवराज 2:00 बजे मिंटो हॉल में सुमन कमांड कंट्रोल रूम का शुभारंभ करेंगे। 3:30 बजे दोपहर में कोरोना सम्बन्धित बैठक लेने के बाद 4:30 बजे नशा मुक्ति अभियान की बैठक लेंगे। वही शाम 5:00 बजे नर्मदा घाटी विकास की समीक्षा बैठक के बाद शाम 6:00 बजे जल संसाधन विभाग की समीक्षा बैठक करेंगे।