Gwalior News: पहली बार सड़क पर उतरे ट्रैफिक वार्डन, संभाली यातायात व्यवस्था

प्रशिक्षित 32 ट्रैफिक वार्डन को पहली बार फील्ड ड्यूटी पर एक घंटे के लिए शाम 5 बजे से 6 बजे तक उतारा गया

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। शहर की बेतरतीब यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए यातायात पुलिस ने ट्रैफिक वार्डन (Traffic Warden) योजना शुरू की है। जिसमें शहर के लोग हिस्सेदारी निभाकर विभिन्न चौराहों पर तैनात किये जायेंगे और पुलिस के साथ मिलकर शहर के यातायात को कंट्रोल करेंगे। हाल ही में प्रशिक्षित किये गए ट्रैफिक वार्डन्स ने आज गुरूवार को पहली बार एक घंटे के लिए शहर के विभिन्न चौराहों पर ट्रैफिक कंट्रोल किया।

शहर के अस्तव्यस्त यातायात को सुधारने के लिए जनता से लेकर जनप्रतिनिधि तक आगे आ रहे हैं। पिछले दिनों एक कार्यक्रम में ग्वालियर आये राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) द्वारा प्रबुद्धजनों से ट्रैफिक वार्डन (Traffic Warden) बनने की अपील की थी उन्होंने कहा था कि वे खुद भी ट्रैफिक वार्डन (Traffic Warden) बनकर यातायात को कंट्रोल करेंगे। सिंधिया की अपील का असर ये हुआ कि बहुत से लोग इस योजना से जुड़ गए।

ये भी पढ़ें – भ्रष्टाचार: बिल्डरों ने बिना अनुमति बना दी मल्टी स्टोरी, कलेक्टर के निर्देश पर FIR  

ट्रैफिक पुलिस ने पिछले दिनों ट्रैफिक वार्डन (Traffic Warden) के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया और आज प्रशिक्षित 32 ट्रैफिक वार्डन (Traffic Warden) को पहली बार फील्ड ड्यूटी पर एक घंटे के लिए शाम 5 बजे से 6 बजे तक उतारा गया । सभी को अलग आग चौराहों पर तैनात किया गया। उनके साथ ट्रैफिक पुलिस स्टाफ भी मौजूद था जो उन्हें बता रहा था कि ड्यूटी कैसे करना है, स्टॉप लाइन कहाँ है, जेब्रा क्रॉसिंग कहाँ है, लेफ्ट टर्न कैसे रखना है।  वरिष्ठ अधिकारी भी नए ट्रैफिक वार्डन (Traffic Warden) का हौसला बढ़ाने के लिए चौराहों का राउंड लेते रहे।