Ujjain News: शिप्रा नदी में हो रहे धमाके, निकल रहा धुआं, नहाने पर लगा प्रतिबंध

वास्तविकता क्या है यह तो वैज्ञानिकों की जांच के बाद ही स्पष्ट होगा लेकिन फिलहाल यह पूरा क्षेत्र बेहद संवेदनशील घोषित कर दिया गया है

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। पवित्र पावन मानी जाने वाली शिप्रा नदी (shipra river) में आश्चर्यजनक वाकया सामने आया है।उज्जैन (ujjain) में इस नदी में धमाकों के साथ धुआ निकल रहा है जिससे लोगों में दहशत है।इसे देखते हुए कलेक्टर आशीष सिंह (colector aashish singh) ने त्रिवेणी (triveni) घाट पर नहाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

दरअसल इस इलाके के त्रिवेणी क्षेत्र में शनिवार सुबह से तेज धमाके और धुऐ के साथ आग निकल रही है जब लोगों ने त्रिवेणी स्टॉप डेम के आसपास नदी क्षेत्रों में इस तरह का वाकया देखा तो उन लोगों में दहशत फैल गई।उस समय सैकड़ों लोग घाट पर नहा रहे थे।इस विषय की जानकारी जैसे ही कलेक्टर सिंह को लगी तो उन्होंने पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाया और तुरंत क्षेत्र में नहाने पर प्रतिबंध लगा दिया।कलेक्टर का क्या नाम है कि इस बारे में जियोलॉजिकल डिपार्टमेंट और भूगर्भ वैज्ञानिकों को जांच दी गई है।जांच के बाद ही मामला स्पष्ट होगा।

Read More: MP School: प्रदेश को बड़ा तोहफा देगी मोदी सरकार, खोले जाएंगे सैनिक स्कूल

इस बारे में भूगर्भ से जुड़े हुए जानकारों का कहना है कि भूमिगत पेट्रोलियम या गैस का रिसाव होता है तो हवा के संपर्क में आने से कोई हलचल शुरू हो जाती है और इस तरह की क्रिया पानी में होती है या फिर भूगर्भीय हलचल होने से इस तरह की घटना होती है।वास्तविकता क्या है यह तो वैज्ञानिकों की जांच के बाद ही स्पष्ट होगा लेकिन फिलहाल यह पूरा क्षेत्र बेहद संवेदनशील घोषित कर दिया गया है और कलेक्टर ने साफ कहा है कि कोई भी व्यक्ति नदी में नहाने के लिए नहीं जाए क्योंकि किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना वहां पर हो सकती है।

वैसे मालवा क्षेत्र भूकंप जोन का क्षेत्र नहीं माना जाता और इस तरह के मामले वहां पर पहली बार सामने आए हैं जिसके चलते प्रशासन की चिंता और ज्यादा बढ़ गई है और कलेक्टर ने इस पूरे मामले में बहुत तेजी के साथ कार्रवाई शुरू कर दी है।इस नदी में नहाने के लिए रोजाना हजारों लोग आते हैं और त्रिवेणी घाट की अपनी महिमा होने के चलते वहां पर भीड़ का भारी जमावड़ा रहता है जिसके चलते किसी भी अनहोनी की आशंका को देखते हुए नहाने पर प्रतिबंध लगाया गया है।