Vidisha News: करोड़ों का आसामी निकला रोजगार सहायक, लोकायुक्त टीम की बड़ी कार्रवाई

अब तक के सामने आए संपत्ति में 2 करोड़ से अधिक संपत्ति का खुलासा हो चुका है।

लोकायुक्त

विदिशा, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में लगातार भ्रष्टाचार (Corruption) के ऊपर करवाई जा रही है। आए दिन आय से अधिक संपत्ति मामले में अधिकारी कर्मचारियों पर कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में आज लोकायुक्त (loakyukt) की टीम ने रोजगार सहायक (Employment assistant) के घर छापेमारी कार्रवाई की है। जहां जांच में 2 करोड़ से अधिक संपत्ति का खुलासा हो चुका है।

दरअसल मामला विदिशा जिले का है। जहां रोजगार सहायक राजेंद्र सिंह यादव (rajendra singh yadav) के पैतृक निवास पर लोकायुक्त टीम ने कार्रवाई की है। लोकायुक्त टीम लगातार दस्तावेजों को खंगालने में जुटी है। रोजगार सहायक पर आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिली थी। जिसके बाद लोकायुक्त टीम द्वारा यह कार्रवाई की गई है।

Read More: MSP पर फसल खरीदी को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान

अब तक के सामने आए संपत्ति में 2 करोड़ से अधिक संपत्ति का खुलासा हो चुका है। वही लगातार दस्तावेज को खंगालने का सिलसिला जारी है। लोकायुक्त चरणबद्ध तरीके से रोजगार सहायक के निवास पर छापेमार कार्रवाई कर रही है। बता दे कि पंचायत से असंतुष्ट लोगों ने 3 मार्च को लोकायुक्त कार्यालय में लोग रोजगार सहायक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

जिसके बाद 2 टीम द्वारा लगातार 2 दिन तक रोजगार सहायक के घर पर छापेमारी कार्रवाई की। वहीं कल देर रात तक चले इस कार्रवाई में 14 घंटे के बाद 2 करोड़ 70 लाख की काली संपत्ति का खुलासा किया गया है। इस मामले में लोकायुक्त टीम का कहना है कि अपने सेवाकाल में रोजगार सहायक को वेतन से महज 6लाख 94 हजार मिले थे। जबकि लोकायुक्त टीम की जांच में रोजगार सहायक के पास से कुल 7.5 हेक्टेयर जमीन एक प्लॉट एक लग्जरी कार दो पोकलेन मशीन, बाइक, जेवर, 2000 फीट का निर्माणाधीन मकान और 3 लाख रुपए नकद की बरामद की गई है।

लोकायुक्त इंस्पेक्टर नीलम पटवा की माने तो शुक्रवार को रोजगार सहायक राजेंद्र यादव के बैंक अकाउंट को भी सील करने की कार्रवाई की गई है।