मप्र युवा कांग्रेस चुनाव 2020 – विक्रांत भूरिया बने युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष

व्रिकांत भूरिया को नया युवा कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया है, हालांकि शुरु से ही भूरिया को प्रबल दावेदार माना जा रहा था।

vikrant bhuriya

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 7 साल बाद हुए मप्र युवा कांग्रेस चुनाव (MP Youth Congress Election) के नतीजे आज शुक्रवार को घोषित कर दिए गए हैं। कांग्रेस विधायक कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया (Vikrant Bhuria) नए अध्यक्ष चुने गए हैं। प्रदेश में अध्यक्ष पद के लिए 9 उम्मीदवारों के बीच मुकाबला था, जिसमें सबसे ज्यादा वोट व्रिकांत को मिले है।

यह भी पढ़े…MP की अवैध कॉलोनियों को लेकर क्या बोले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

दरअसल,  मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में युवा कांग्रेस में चुनाव की शुरुआत 2011 में हुई थी। सबसे पहले प्रियव्रत सिंह और फिर 2013 में  कुणाल चौधरी दूसरे अध्यक्ष बने थे। इसके बाद करीब 7 साल बाद अब 2020 में चुनाव कराए गए है, जिसमें संजय यादव और विवेक त्रिपाठी को पछाड़ते हुए व्रिकांत भूरिया को नया युवा कांग्रेस का अध्यक्ष को जीत मिली है, हालांकि शुरु से ही भूरिया को प्रबल दावेदार माना जा रहा था।

विक्रांत ने संजय सिंह को 20420 वोट से हराया है, भूरिया को कुल 40850 वोट मिले।संजय सिंह वरिष्ठ उपाध्यक्ष बनाया गया है। जबकि अजीत बोरासी, प्रतिमा मुदगल और विपिन वानखेड़े (Vipin Wankhede) को उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी गई है।इसके अलावा विवेक त्रिपाठी सहित अध्यक्ष पद के 6 उम्मीदवारों को सचिव बनाया गया है।

यह भी पढ़े…MP: एक बार फिर चर्चा में आए निलंबित आईपीएस पुरुषोत्तम शर्मा, ये है वजह

आपको बता दे कि इस पूरे चुनाव में कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuriya) के बेटे विक्रांत को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh), संजय यादव को प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी(Jitu Patwari) और प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी (Kunal Chaudhary) और विवेक त्रिपाठी (Vivek Tripathi) को एनएसयूआइ (NSUI) से युवा कांग्रेस में आई टीम का समर्थन मिला था।

इसके बाद से ही बड़े नेताओं पर अपने चहेतों को पद दिलाने और आंकड़ों में हेरफेर के आरोप लग रहे थे और बवाल खड़ा हो गया था। यहां तक की इसकी शिकायत राहुल गांधी ( (Rahul Gandhi ) तक पहुंची थी, लेकिन लंबे विवाद के बाद आज 18 दिसंबर को परिणाम घोषित कर दिए गए है।

विधानसभा में हारे, युवा कांग्रेस चुनाव में जीते

युवक कांग्रेस के नव निर्वाचित अध्यक्ष विक्रांत भूरिया विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) हार चुके हैं। पार्टी ने वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में झाबुआ से टिकट दिया था, लेकिन वे भाजपा के जीएस डामोर से हार गए थे। इसके बाद डामोर सांसद बन गए। जब यह सीट खाली हुई तो विक्रांत के पिता कांतिलाल भूरिया चुनाव जीत कर विधायक बन गए और उनके बेटे विक्रांत भूरिया को युवा अध्य़क्ष की कमान मिली है।

ऑनलाइन हुई थी वोटिंग, 3 लाख से ज्यादा ने डाले वोट

बता दे कि युवा कांग्रेस चुनाव के लिए 10,11 और 12 दिसंबर को वोटिंग हुई थी, इसमें3 लाख 50 हजार सदस्यों में से 1 लाख 10 हजार ने ऑनलाइन मतदान (Online Voting) में हिस्सा लिया था। प्रदेश अध्यक्ष के लिए 9 उम्मीदवार मैदान में थे। प्रदेश अध्यक्ष के अलावा प्रदेश महामंत्री, जिला अध्यक्ष, जिला महामंत्री व विधानसभा प्रभारी भी घोषित हुए। 116 उम्मीदवारों में से 11 प्रदेश महामंत्री और 56 सचिव बनाए गए है।

विक्रांत भूरिया