गन लाइसेंस के लिए कांग्रेस नेत्री ने किया जमकर हंगामा, कलेक्टर को दी चेतवानी

1598

छतरपुर। मध्य प्रदेश के छतरपुर में महिला कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष रमा चौहान के हंगामे और चेतावनी के बाद जिला प्रशासन को झुकना पड़ा। रमा अपनी बहु के लिए शस्त्र लाइसेंस के लिए मांग कर रही थीं। लेकिन कलेक्टर मोहित बुंदस ने उनकी फाइल पर लंबे समय तक साइन नहीं किया। जिससे खफा होकर कांग्रेस नेत्री ने हंगामा कर दिया। यही नहीं उन्होंने दो दिन पहले कलेक्ट्रेट पहुंचकर मीडिया को बयान दिया था कि कलेक्टर मोहित बुंदस बीजेपी के एजेंट हैं। उन्होंने कहा था कि महीनों से कलेक्टर उनकी एक फाइल पर साईन नहीं कर रहे हैं जबकि वे प्रभारी मंत्री सहित सरकार के कई महत्वपूर्ण लोगों से कलेक्टर को फोन लगवा चुकी हैं। 

रमा चौहान ने मीडिया को बयान देते हुए चेतावनी दी थी कि खजुराहो आ रहे मुख्यमंत्री कमलनाथ के सामने कलेक्टर मोहित बुंदस की शिकायत की जाएगी। रमा चौहान का यह बयान जैसे ही मीडिया के द्वारा प्रसारित किया गया। रातोंरात जिला प्रशासन ने रमा चौहान की पुत्रवधू मीना सिंह पत्नि अजिताभ चौहान की शस्त्र फाइल को खोजना शुरू कर दिया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शस्त्र शाखा के सूत्र बताते हैं कि कलेक्टर मोहित बुंदस ने कांग्रेस नेत्री की पुत्रवधू के नाम शस्त्र लाईसेंस की अनुशंसा कर दी है। यही नहीं लाईसेंस की अनुशंसा के साथ-साथ शस्त्र शाखा ने सीएम के आने के पूर्व ही रमा चौहान को भी सूचित किया जिसके कारण रमा चौहान ने अपना विरोध टाल दिया और खजुराहो पहुंचकर मुख्यमंत्री का स्वागत तो किया लेकिन कलेक्टर की कोई शिकायत नहीं की। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here