आगामी आदेश तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद, 10वीं और 12वीं को छोड़कर सभी को जनरल प्रमोशन

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (Corona) के बढ़ते असर को देखते हुए छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) ने ट्वीट (Tweet) कर इस फैसले की जानकारी दी। दरअसल पिछले 15 दिनों में कोरोना (Corona) छत्तीसगढ़ में जिस तेजी के साथ बढा है उससे सरकार के माथे पर चिंता की लकीरें आ गई है।

यह भी पढ़े.. Corona Alert: लॉकडाउन की सख्ती के बीच दिखा MP Police का मानवीय चेहरा

रविवार की सुबह कोरोना (Corona) ने देश भर को एक बार फिर चिंता में डाल दिया। करीब 43000 से ज्यादा संक्रमित मिले और 197 लोगों की जिंदगी कोरोना (Corona) ने छीन ली। अब तक कुल 1.15 करोड़ लोग इस संक्रमण से पीड़ित हो चुके हैं जबकि 1,59,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। अब तक 4.36 करोङ लोगों को इसका वैक्सीन भी लग चुका है। लेकिन एहतियात के तौर पर छत्तीसगढ़ सरकार ने सभी स्कूल- कॉलेज और आंगनवाड़ी केंद्रों को तत्काल प्रभाव से बंद करने का निर्णय लिया है। इसी के साथ 10वीं और 12वीं बोर्ड के अलावा सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन (General Promotion) के माध्यम से अगली क्लास में पहुंचने का रास्ता साफ कर दिया है।

यह भी पढ़े.. Corona Vaccine: आइए जाने वैक्सीनेशन के बाद भी लोग क्युं हो रहे है संक्रमित

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस फैसले की आलोचना हो रही है। ट्विटर पर जैसे ही उन्होंने यह जानकारी दी, आलोचकों ने यह लिखकर इसका विरोध करना शुरू कर दिया कि सरकार के पास क्या शिक्षा की कोई नीति नहीं? इस तरह का जनरल प्रमोशन तो शिक्षा की गुणवत्ता को कम ही करेगा। एक अन्य ट्वीट में कहा गया कि हमें पता था कि तुमसे नहीं हो पाएगा। एक ट्विटर पर सवाल किया गया कि जब पढ़ाई ऑनलाइन हो सकती है तो फिर परीक्षाएं ऑनलाइन क्यों नहीं हो सकती? एक ट्वीट यह भी आया कि क्रिकेट के मैदान में 65 हजार लोगों के इकट्ठे होने पर सरकार ने रोक नहीं लगाई, मनोरंजन होने दिया और अब परीक्षाओं के साथ समझौता किया जा रहा है। छात्र-छात्राओं के भविष्य के लिए ठीक नहीं।

यह भी पढ़े.. Coronavirus: लोकसभा स्पीकर ओम बिरला कोरोना पॉजिटिव, दिल्ली एम्स में भर्ती

इस निर्णय के साथ-साथ मुख्यमंत्री ने सीमावर्ती राज्यों से आने वाले लोगों के हर हाल में बिना जांच प्रवेश ना होने देने, मास्क के लिए रोको टोको अभियान चलाने, सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य पालन करने जैसे दिशा निर्देश भी जारी किए हैं। इसके बाद भी अगर कोरोना (Corona) फिर भी बढा तो फिर लॉकडाउन (lockdown) जैसी स्थितियां छत्तीसगढ़ में भी लागू हो सकती हैं,इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।