कर्मचारी संघ ने मंत्रालय को बंद करने की मांग की,फैल रहा कोरोना

भोपाल डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश की प्रशासनिक हृदय स्थली वल्लभ भवन स्थित मंत्रालय को पूर्णता बंद करने के लिए मंत्रालय कर्मचारी संघ द्वारा सरकार को ज्ञापन सौंपा गया है। संघ का मानना है कि वल्लभ भवन में तेजी के साथ कोरोना फैल रहा है जिसके चलते आधा सैकड़ा से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं।

कोरोना के बीच एआर रहमान, प्रसून जोशी का गीत “हम हार नहीं मानेंगे” दे रहा नई ऊर्जा

मंत्रालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक ने मुख्य सचिव और सामान्य प्रशासन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर मांग की है कि वल्लभ भवन स्धित मंत्रालय को तत्काल बंद किया जाए। उनका कहना है कि मंत्रालय का नया बने एनेक्सी भवन सैंट्रली एसी यानी पूर्णतया वातानुकूलित है और इनके चलते मंत्रालय में कोरोना भयावह तरीके से फैल रहा है। बहुत बड़ी संख्या में मंत्रालय के अधिकारी-कर्मचारी और उनके परिजन कोरोना से गंभीर रूप से पीड़ित हो चुके हैं। सुधीर नायक ने अपनी ज्ञापन में लिखा है कि कुछ विभाग जैसे वन विभाग, पंचायत, राजस्व और स्कूल शिक्षा के तो 90% कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं।पिछली कोरोना लहर मे मंत्रालय के तीन कर्मचारी कोरोना के चलते दम तोङ चुके है। सरकार ने 10% उपस्थिति के साथ मंत्रालय को खुला रखने का जो आदेश दिया है वह किसी भी स्थिति में व्यवहारिक नहीं है क्योंकि 10% कर्मचारियों के भरोसे किसी भी विभाग का काम नहीं चल सकता।

अच्छी खबर : 18 प्लस की वैक्सीनेशन के लिए 24 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन शुरू

इसके साथ ही मंत्रालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक ने यह भी कहा है क्योंकि पुलिस ने कर्फ्यू के चलते पूरे शहर में बैरीकेटिंग कर रखी है जिसके कारण आवागमन बंद पड़ा है और अनेक अधिकारी-कर्मचारियों को मंत्रालय का परिचय पत्र दिखाने के बाद भी पुलिस जाने नहीं देती और उनके साथ अभद्र व्यवहार करती है। संघ ने यह भी मांग की है कि कर्मचारियों के साथ-साथ अधिकारियों को भी ऑफिस आने से छूट दी जानी चाहिए क्योंकि यह मानवीय संकट है और अधिकारी-कर्मचारियों का विभेद करना उचित नहीं है। संघ के कार्यकारी अध्यक्ष राजकुमार पटेल ने भी 15 मई तक मंत्रालय को पूरी तरह से बंद रखने के लिए मुख्य सचिव से आग्रह किया है।