Dipak Singh
Dipak Singh

सागर डेस्क रिपोर्ट-60 घंटे के लॉकडाउन के दौरान सागर के नगरीय निकाय क्षेत्रों में शराब की दुकानें बंद रहेंगी। कलेक्टर दीपक सिंह ने इस आशय के आदेश जारी कर दिए हैं। इस आदेश की सराहना करते हुए जनप्रतिनिधियों ने इससे जनहित में उठाया हुआ कदम बताया है।

मुरैना : प्रदेश लॉक लेकिन शराब की दुकान ओपन, देखिये लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाती तस्वीर

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते सागर जिले में भी 9 अप्रैल की शाम 6 बजे से 12 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक 60 घंटे का लॉकडाउन किया गया है। इस दौरान अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर सामान्य आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। साथ ही साथ इस बात की सख्ती के साथ व्यवस्था की जा रही है कि लोग पर बिना आवश्यक कारण घर के बाहर ना निकले ताकि कोरोना संक्रमण रोका जा सके। सरकार की ओर से शराब की दुकानों के संबंध में कोई स्पष्ट आदेश नहीं है। इसीलिए कलेक्टर दीपक सिंह ने शासन द्वारा दी गई शक्तियों का प्रयोग करते हुए सागर के सभी नगरीय निकायों में 10 और 11 अप्रैल को शराब, भांग सहित सभी नशे से संबधित दुकानें बंद रखने के आदेश दिए हैं।

वेलडन कलेक्टर साहब, ऐसे ही लागू होता है संपूर्ण लॉकडाउन

दरअसल मध्य प्रदेश आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 24(1) में कलेक्टर को अधिकार दिए गए हैं कि वे अपने क्षेत्र की देशी या विदेशी शराब और भांग की फुटकर बिक्री की दुकानों को या अन्य मदिरा केंद्रों को बंद रख सकते हैं। कलेक्टर दीपक सिंह ने अपनी इन्हीं शक्तियों का प्रयोग किया है और शराब की दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया है। आदेश में यह भी कहा गया है कि अगर किसी ने आदेष की अवहेलना की तो उसके खिलाफ नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही की जाएगी और आदेश का कड़ाई से पालन किया जाए।

कोरोना से त्रस्त इंदौरवासी लॉकडाउन से जुड़ी ये खबर जरूर पढ़ें

इसके पहले ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह भी इस तरह का आदेश दे चुके हैं। अब सागर कलेक्टर के आदेश के बाद सागर के जनप्रतिनिधियों सहित आम जनता में भी इस आदेश की सराहना की जा रही है क्योंकि आमतौर पर यह देखने में आता था कि सामान्य जनजीवन पर लॉकडाउन का व्यापक असर पड़ने के बाद भी शराब की दुकानें खुली रहती थी जो कहीं ना कहीं आलोचना का विषय बनती थी। वैसे भी शराब और कोरोना का छत्तीस का आंकड़ा है।कोरोना से फेफड़े संक्रमित होने का खतरा रहता है और शराब पीने से भी फेफड़ो पर बुरा असर पड़ता है। ऐसे में कलेक्टर का यह निर्णय लोगों के स्वास्थ्य पर भी अच्छा प्रभाव डालेगा।

Order
Order