Salman Khan पर हमले की प्लानिंग कर रहे थे लॉरेंस के गुर्गे, AK-47 से करना चाहते थे छलनी, पुलिस ने नाकाम की साजिश

14 अप्रैल को सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग की गई थी। इसके बाद एक बार फिर उन पर हमला करने की कोशिश की प्लानिंग की जा रही थी, जिसे पुलिस ने नाकाम कर दिया है।

Salman Khan

Salman Khan: बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान पिछले कुछ दिनों से लगातार चर्चा में बने हुए हैं। दरअसल पिछले कई दिनों से उनकी जान को खतरा होने की बातें सामने आ रही है और उनके घर पर फायरिंग भी की गई थी। अब एक बार फिर एक्टर पर हमला करने की कोशिश को मुंबई पुलिस ने नाकाम कर दिया है। जी हां, लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के चार लोग सलमान खान की कार पर हमला करने की योजना बना रहे थे। जिसे नवी मुंबई पुलिस ने नाकाम कर दिया है। यह लोग हमले के लिए पाकिस्तान सप्लायर से हथियार मंगवाने की योजना बना रहे थे।

पुलिस की गिरफ्त में 4 लोग

जानकारी के मुताबिक नवी मुंबई पुलिस ने जिन चार लोगों को गिरफ्तार किया है। वह लॉरेंस बिश्नोई गैंग के सदस्य हैं। इन्होंने एक्टर के शूटिंग के स्थान और फार्म हाउस की रेकी की थी। बताया जा रहा है कि इन लोगों को AK-47 समेत कई हथियारों से फायरिंग करने के ऑर्डर दिए गए थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से जप्त किए गए मोबाइल में इस तरह के कई वीडियो होने की बात कही है। जब इनसे पूछताछ की गई तो यह पता चला है कि यह लोग पाकिस्तान के डोगा नामक एक व्यक्ति के संपर्क में थे। वह इन लोगों को एके-47, एम 16 और एके-92 उपलब्ध करवाने वाला था।

लॉरेंस गैंग से कनेक्शन

जो चार आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं उनका संबंध लॉरेंस बिश्नोई गैंग से है। आरोपियों की पहचान गौरव भाटिया उर्फ नहवी, धनंजय उर्फ अजय कश्यप, वासपी खान उर्फ वसीम चिकना और रिजवान खान उर्फ जावेद खान के रूप में की गई है। इस मामले में पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई, अनमोल बिश्नोई, गोल्डी बरार, संपत नेहरा समेत 17 से ज्यादा लोग खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इस मामले में जांच लगातार जारी है।

कुछ दिनों पहले हुई थी फायरिंग

अभिनेता के घर 14 अप्रैल को दो शूटरों ने फायरिंग की थी। यह दोनों बाइक से बांद्रा स्थित गैलेक्सी अपार्टमेंट पहुंचे थे और यहां तीन से चार राउंड हवाई फायरिंग करके भाग निकले थे। घटना के समय दोनों ने हेलमेट पहना हुआ था जिस वजह से इनकी पहचान नहीं हो पाई थी। एक्टर के अपार्टमेंट के बाहर गोलियों के निशान मिले थे और एक गोली बालकनी थी नेट को चीरती हुई निकल गई थी। इस घटना की जिम्मेदारी लॉरेंस के भाई अनमोल बिश्नोई ने सोशल मीडिया के जरिए ली थी। जब दोनों आरोपी पकड़े गए थे तो इन्होंने पूछताछ के दौरान लॉरेंस गैंग से सुपारी मिलने की बात कबूल की थी। इस मामले को लेकर अब पुलिस लॉरेंस से पूछताछ की तैयारी कर रही है जो फिलहाल गुजरात की साबरमती जेल में है।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है।मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News